प्रदेश में कुशासन का पर्याय बन गई है भाजपा सरकार: अखिलेश

प्रदेश में कुशासन का पर्याय बन गई है भाजपा सरकार: अखिलेश

जनता में भाजपा की जनविरोधी नीतियों का पर्दाफाश करें सपा कार्यकर्ता
सपा प्रमुख ने जारी किया समाजवादी पार्टी का आह्वïान बुकलेट

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने गुरुवार को पार्टी मुख्यालय में ‘समाजवादी पार्टी का आह्वïान‘ बुकलेट जारी करते हुए सभी पार्टी कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों से अपील की कि वे राज्य और केन्द्र की भाजपा सरकारों की अक्षम्य गलतियों तथा जनविरोधी नीतियों का जन-जन के बीच जाकर पर्दाफाश करें और पीडि़त, दु:खी तथा असहाय लोगों की यथासम्भव मदद करें।
उन्होंने कहा कि किसान लुट रहा है। मजदूर भूखों मर रहा है। बेरोजगारी सुरसा की तरह आकार बढ़ाती जा रही है। नौकरी के नाम पर युवकों को धोखा दिया जा रहा है। छात्र वर्ग कुंठित है। बुनकर, दस्तकार और छोटा, मझोला, बड़ा उद्यमी किसानों की तरह आत्महत्या करने को विवश है। देश की सीमाएं सिकुड़ रही हैं। भाजपा ने जनता का भरोसा तोडऩे का काम किया है। कोरोना महामारी से पूरा देश भयाक्रांत है। लॉकडाउन ने सामाजिक-आर्थिक सभी गतिविधियां ठप कर दी हैं। लाखों श्रमिक बेरोजगार हो गए हैं।
उन्होंने कहा कि भाजपा ने सत्ता में आने के बाद जनहित का कोई उल्लेखनीय कार्य नहीं किया है। जनता अपने साथ हुए विश्वासघात को भूल नहीं सकती है इसलिए हमारा मुख्य लक्ष्य उत्तर प्रदेश में कुशासन का पर्याय बन गई भाजपा सरकार को सन् 2022 के चुनावों में सत्ता से बेदखल करना है। भाजपा की केन्द्र सरकार ने देश को आर्थिक अराजकता, मंदी, अपराध और लोकतंत्र के अवमूल्यन की दिशा में ढकेला है। साजिश और अफवाह, यही भाजपा के हथियार है। उन्होंने कहा, भाजपा की एकाधिकारी प्रवृत्ति की आशंका प्रबल होती दिखती है। आपातकाल का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि आज के दिन देश में लोकतंत्र को तानाशाही का शिकार बनाया गया था। जब उसके विरोध में जनता उठी तो दूसरी आजादी की रक्षा हो सकी। आज फिर वैसी संक्रमणकालीन स्थिति बन रही है। किसान के विरूद्ध गहरी साजिश के तहत कारपोरेट पूंजीवाद को बढ़ावा दिया जा रहा है। संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर किया जा रहा है। साम्प्रदायिकता और जातियों के बीच नफरत लोकतंत्र को कमजोर करती है। उन्होंने आव्हान किया कि आज हमें यह देखना होगा कि नौजवानों और किसानों के साथ अन्याय न हों, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और मानवाधिकारों का हनन न हो। देश में डर और आतंक का माहौल पैदा करने वालों को सफल न होने दें। लोकतंत्र, समाजवाद और धर्मनिरपेक्षता हमारे संविधान की मूल प्रस्तावना के हिस्से हैं। समाजवादी पार्टी इनके लिए प्रतिबद्ध है।

सार्वजनिक स्थानों पर थूकने वालों पर पुलिस सख्त

  • सात हजार से अधिक लोगों का किया गया चालान
  • सभी जिलों में एक जून से चलाया गया था अभियान

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए आईजी रेंज लक्ष्मी सिंह ने सभी जिलों में एक जून से अभियान चलाकर सघन चेकिंग करने के निर्देश दिए थे। 25 जून तक पुलिस ने सार्वजनिक स्थानों पर थूकने वाले 7369 लोगों के चालान किए। यही नहीं बिना मास्क पहने घूम रहे 57500 लोगों के चालान भी किए गए। आइजी रेंज लक्ष्मी सिंह के मुताबिक, इस दौरान कुल 65 लाख रुपये शमन शुल्क वसूले गए हैं।
पुलिस ने बाइकर्स गैंग पर नकेल लगाने के लिए 2951 वाहनों के चालान किए गए और 113 वाहन सीज हुए। इस दौरान 26 इनामी अपराधी भी पकड़े गए। वहीं 203 अवैध शस्त्र बरामद किए गए। आइजी रेंज ने डायल 112 के रिस्पांस टाइम की भी समीक्षा की। इस दौरान रायबरेली का रिस्पांस टाइम सबसे अच्छा रहा। इस पर जिले के प्रभारी निरीक्षक अमरनाथ यादव को पुरस्कृत किया गया। इसके अलावा अच्छा काम करने वाले सिपाहियों को भी सम्मानित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *