प्रदेश के सभी मंडल में आयोजित होगी एक दिवसीय कार्यशाला: जूही सिंह

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। किशोर न्याय अधिनियम 2015 को प्रभावी तौर पर लागू करने के लिए प्रदेश के सभी मंडल में एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित की जाएगी। कार्यशाला में सक्षम अधिकारियों और कर्मचारियों को जागरूक किया जाएगा। इस कार्यशाला का आयोजन राज्य बाल आयोग का सहयोग राष्टï्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग एवं यूनिसेफ करेंगे। इस कार्यशाला के माध्यम से लगभग 2000 अधिकारियों कर्मचारियों सामाजिक संस्थायों और बाल संरक्षण के लिए कार्य कर रहे लोगों को जागरूक किया जाएगा, जिससे इस अधिनियम को उत्तर प्रदेश में प्रभावी ढंग से लागू किया जा सके।
उक्त बातें राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष जूही सिंह ने इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग एवं यूनिसेफ के सहयोग से आयोजित की गयी किशोर न्याय अधिनियम-2015 पर राज्य स्तरीय कार्यशाला में कही। कार्यशाला में उत्तर प्रदेश के लगभग समस्त विभागों से अधिकारियों, कर्मचारियों स्वयं सेवी संस्थाएं लॉ यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर एवं विद्यार्थियों ने भाग लिया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि कार्यशाला आयोजित करने का मुख्य उद्देश्य प्रदेश के सभी विभागों के सक्षम अधिकारियों और कर्मचारियों को नयी किशोर न्याय अधिनियम 2015 की जानकारी देना है। इस अधिनियम के बारे में सक्षम अधिकारियों और कर्मचारी, जिनकी संख्या लगभग 2000 है, को बताया जाएगा। कार्यक्रम में महिला सम्मान प्रकोष्ठ की महा निदेशक सुतापा सान्याल, विशेष सचिव गृह एम मिनिस्ति नायर, जस्टिस महबूब अली, निदेशक न्यायिक प्रशिक्षण एवं अनुसन्धान संस्थान राजेश पति, प्रेमा मिश्र, प्रोफेसर वेद कुमारी, अनुभा ने अपने विचार रखे।

Pin It