पोलियो अभियान में ड्यूटी से गायब रहना पड़ेगा महंगा

अधिकारियों को अभियान से जुड़े कर्मचारियों पर निगरानी रखने व 4 मार्च तक रिपोर्ट सौंपने के निर्देश

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। जिलाधिकारी राजशेखर ने पल्स पोलियो अभियान में अनुपस्थित रहने वाले कर्मचारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का निर्देश दिया है। ड्यूटी से गायब रहने वाले कर्मचारियों को निलंबित भी किया जा सकता है। उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी व जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को पोलियो अभियान से जुड़े सभी कर्मचारियों के काम पर निगरानी रखने और 4 मार्च तक उसकी रिपोर्ट प्रस्तुत करने की बात कही है।
जिलाधिकारी ने सर्विलांस मेडिकल ऑफिसर व नेशनल पोलियो सर्विलांस प्रोजेक्ट की प्रभारी डॉ. सुरभि त्रिपाठी की तरफ से प्रस्तुत रिपोर्ट को आधार मानकर लापरवाह कर्मचारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का निर्देश दिया है। रिपोर्ट के मुताबिक आंगनबाड़ी व शिक्षा विभाग के कर्मचारी पल्स पोलियो अभियान से अक्सर गायब रहते हैं। ये कर्मचारी ड्यूटी को गंभीरता से नहीं लेते हैं। इसलिए पल्स पोलियो अभियान प्रभावित हो रहा है। इसको गंभीरता से लेकर जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी उमेश मिश्रा की अध्यक्षता में कमेटी गठित कर दी है। इस कमेटी को मामले की जांच करने और कर्मचारियों का स्पष्टीकरण मांगने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसमें चार मार्च तक पूरे मामले में गायब कर्मचारियों से स्पष्टीकरण तलब कर अपनी स्पष्ट रिपोर्ट भेजने का निर्देश दिया गया है। जिले में पल्स पोलियो अभियान के तहत ड्यूटी पर तैनात सभी कर्मचारियों की शत प्रतिशत उपस्थिति का निर्देश भी दिया गया है। इसके अंतर्गत जो भी कर्मचारी पल्स पोलियो अभियान को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं, वह ड्यूटी से गायब रहते हैं, उनको चिन्हित कर सीधे निलंबित करने की बात कही गई है।

Pin It