पॉलीथीन के इस्तेमाल पर सख्त हुआ प्रशासन

प्लास्टिक की थैलियों का भंडारण और विक्रय गैर कानूनी घोषित

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। जिलाधिकारी राजशेखर ने राजधानी में प्लास्टिक की थैलियों के भंडारण और इस्तेमाल पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया है। इसके साथ ही पॉलीथीन बनाने वाली 26 फैक्ट्रियों के लाइसेंस निरस्त कर दिये हैं। इसलिए पॉलीथीन के इस्तेमाल को लेकर लोगों के मन में मौजूद आशंकाओं पर विराम लग गया है।
जिलाधिकारी के मुताबिक प्रदेश सरकार ने पॉलीथीन की बिक्री और भंडारण दोनों पर ही पूर्णरूप से प्रतिबंध लगा दिया है। अगर कोई व्यक्ति प्लास्टिक थैलियों का विक्रय या भण्डारण करता पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी। इस संबंध में नगर आयुक्त, अपर नगर आयुक्त, वाणिज्य कर, क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण अधिकारी, महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र तथा अभिहित अधिकारी खाद्य सुरक्षा को अपने-अपने विभाग के अधिकारियों की टीम गठित करने का निर्देश दिया गया है। इसके साथ ही पॉलीथीन पर पूर्णतया प्रतिबंध लगाने के संबंध में प्रभावी कार्रवाई सुनिश्चित की जायेगी। विभागीय अधिकारियों से पॉलीथीन के संबंध में की जाने वाली कार्रवाई की रिपोर्ट भी मांगी गई है। जिलाधिकारी ने बताया कि रेडीमेड कपड़़े की दुकानों, मिठाई की दुकानों, किराना की दुकानों या ऐसे व्यसवसायिक प्रतिष्ठानों पर पॉलीथीन व प्लास्टिक बैग का प्रयोग करने वालों पर कड़ी नजर रखी जायेगी। प्रिटिंग प्रेस एवं एडवरटाइजिंग कंपनियों, शॉपिंग मॉल, फल की दुकानों, मेगा स्टोर्स, खाद्यान्न सामग्री बेचने वाले भी पॉलीथीन का इस्तेमाल करते हैं। इसके अलावा अन्य कई ऐसे प्रतिष्ठान जहां पर प्रतिबन्धित प्लास्टिक का बड़ी मात्रा में उपयोग हो रहा हो, उसकी जांच कर उनके विरूद्ध प्रभावी कार्रवाई की जायेगी। इसके अलावा पॉलीथीन बनाने वाली 26 फैक्ट्रियों का लाइसेंस रद कर दिया गया है।

Pin It