पॉलीटेक्निक कालेजों का जल्द पूरा करें काम

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ । उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव आलोक रंजन ने प्रमुख सचिवों को निर्देश दिये हैं कि विकास एजेण्डा 2016-17 में महत्वपूर्ण परियोजनाओं को चिन्हित करते हुये प्रदेशवासियों से मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा मांगे गये सुझावों पर भी विचार कर लक्षित योजनाओं में शामिल किया जाये। उन्होंने कहा कि प्रदेश के युवाओं को गुणवत्तापरक बेहतर शिक्षा उपलब्ध कराने हेतु सम्बन्धित कर्मियों की जिम्मेदारी नियत कर निरन्तर मूल्यांकन एवं अनुश्रवण कर शैक्षणिक गुणवत्ता में सुधार हेतु प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित करायी जाये। उन्होंने कहा कि प्रदेश में निर्मित अपूर्ण 20 पॉलीटेक्निक कॉलेजों को पूर्ण कराते हुये क्रियाशील कराकर लगभग 6 हजार छात्र-छात्राओं को तकनीकी प्रशिक्षण उपलब्ध कराया जाये।
मुख्य सचिव आलोक रंजन शास्त्री भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में विकास एजेण्डा 2016-17 के अन्तर्गत समूह-2 के अन्तर्गत बेसिक, माध्यमिक, प्राविधिक, उच्च तथा व्यावसायिक शिक्षा के अधिकारियों की बैठक कर परियोजनाओं को लक्षित किये जाने हेतु निर्देश दे रहे थे।
उन्होंने कहा कि विगत वित्तीय वर्ष के विकास एजेण्डा में चिन्हित परियोजनाओं का कार्य पूर्ण हो जाने के फलस्वरूप उन्हें ड्राप करते हुये अपूर्ण अथवा आगामी वर्ष में क्रियाशील रखने योग्य लक्षित परियोजनाओं को विकास एजेण्डा में अवश्य सम्मिलित किया जाये। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि सर्व शिक्षा अभियान के अन्तर्गत निर्मित अपूर्ण प्राथमिक एवं उच्च लगभग 550 विद्यालयों को भारत सरकार से धनराशि न मिलने के कारण पूर्ण न होने की स्थिति पर प्रदेश सरकार से धन उपलब्ध कराकर पूर्ण कराकर क्रियाशील कराने हेतु लक्षित किया जाये। उन्होंने कहा कि आगामी वित्तीय वर्ष में भी लैपटॉप एवं कन्या विद्या धन योजना चालू रखने हेतु पूर्व निर्धारित प्रक्रिया को समय से पारदर्शिता के साथ पूर्ण कराने हेतु लक्षित किया जाये। उन्होंने कहा कि प्रदेश के समस्त महाविद्यालयों, प्राविधिक विद्यालयों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को वाई-फाई कनेक्टिविटी की सुविधा उपलब्ध करायी जाये। उन्होंने कहा कि छात्रों को अपने जीवन को उज्ज्वल बनाने हेतु बेहतर काउन्सिलिंग की प्रक्रिया का क्रियान्वयन बेहतर ढंग से संपादित कराया जाये।
बैठक में प्रमुख सचिव कार्यक्रम क्रियान्वयन श्रीमती कल्पना अवस्थी, प्रमुख सचिव प्राविधिक शिक्षा श्रीमती मोनिका एस. गर्ग, सचिव व्यावसायिक शिक्षा भुवनेश कुमार सहित सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।

Pin It