पेंशन योजना में धांधली के खिलाफ महिलाओं का प्रदर्शन

जिले में लाभान्वित होने वाली महिलाओं ·ी संख्या पहुंची 58000

दलालों की गिरफ्त में योजना : सीमा राना

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। महिला संगठन एडवा के बैनर तले विकास भवन पर प्रदर्शन करने पहुंची शहरी क्षेत्र की महिलाओं ने समाजवादी पेंशन योजना में धांधली होने का आरोप लगाया है। इसके खिलाफ समाज कल्याण अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर अभ्यर्थियों के चयन में पारदर्शिता लाने और अर्ह व्यक्तियों को योजना का लाभ दिलाने की मांग की है।
महिला संगठन की सीमा राना का आरोप है कि समाजवादी पेंशन योजना पूरी तरह से दलालों की गिरफ्त में है। इस योजना में आवेदन पत्र भरवाने से लेकर लाभार्थियों के चयन तक की प्रक्रिया विभाग के कुछ कर्मचारियों और दलालों की मिलीभगत से चल रही है। परिणामस्वरूप अर्ह व्यक्तियों को योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। शहरी क्षेत्र में रहने वाली सैकड़ों गरीब और निराश्रित महिलाएं पेंशन के लिए आवेदन पत्र भरकर संबंधित विभागों और कार्यालयों का चक्कर काट रही हैं। उन्हें कहीं से भी सही जानकारी नहीं मिल पा रही है। इस कारण महिलाओं को अपनी मांगे मनवाने के लिए धरना और प्रदर्शन करना पड़ रहा है। इस मामले को गंभीरता से लेकर समाज कल्याण अधिकारी के एस मिश्र ने सभी आवेदन पत्रों की गहनता से जांच करने और अर्ह व्यक्तियों को ही पेंशन योजना का लाभ दिलाने का भरोसा दिलाया है।
गौरतलब हो कि समाजवादी पेंशन योजना के अंतर्गत गरीब और निराश्रित महिलाओं को प्रति माह 500 रुपये दिये जाते हैं। इस योजना के अंतर्गत लखनऊ में कुल 62000 लोगों के आवेदन पत्र प्राप्त हो चुके हैं, जिसमें 56000 लोगों को पेंशन मिल रही है। जिले में समाजवादी पेंशन के आवेदकों की संख्या अधिक होने की वजह से लाभार्थियों की संख्या बढ़ाने संबंधी प्रस्ताव शासन में स्वीकृति के लिए भेजा गया था। इसमें लाभार्थियों की संख्या में 2000 की बढ़ोत्तरी की गई है। जिसके अंतर्गत लाभ पाने वालों का आंकड़ा 58000 हो जायेगा। इस योजना के अंतर्गत आवेदकों से प्रार्थना पत्र मांगे गये हैं। जिनके सत्यापन की कार्रवाई चल रही है। इसके बाद लाभार्थियों की अंतिम सूची जारी कर पेंशन की धनराशि चेक के माध्यम से अथवा उनके बैंक खाते में आरटीजीएस के माध्यम से भेजी जायेगी।

Pin It