पुलिस सीज करती है सिर्फ आठ वाहन

प्रतिदिन छह सौ लोग करते हैं यातायात नियमों का उल्लंघन

यातायात और सिविल पुलिस के आंकड़ों से उजागर हुई सच्चाई
नियम तोडऩे में सैकड़ों नियम बनाने वाले भी शामिल

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी लखनऊ में प्रतिदिन छह सौ लोग यातायात नियमों को तोड़ते हैं जबकि पुलिस सिर्फ आठ वाहनों पर कठोर कार्रवाई करती है। शेष सभी लोगों का चालान काटकर छोडक़र दिया जाता है। यह सच्चाई यातायात विभाग के आंकड़ों से सामने आई है। इन आंकड़ों में सिविल पुलिस की कार्रवाई भी शामिल है। नियमों को तोडक़र कई मनचले पुलिस के सामने से जहां फरार हो जाते हैं वहीं बड़े लोगों के आगे पुलिस नतमस्तक हो जाती है। नियम तोडऩे में सैकड़ों वह लोग भी शामिल हैं जो स्वयं ही नियम बनाने वालों की कतार में खड़े रहते हैं। हालांकि पुलिस ने समय-समय पर अभियान चलाते हुए लोगों को जागरूक किया, बावजूद इसके हालात जस के तस बने हुये हैं।
आंकड़ों के अनुसार यातायात विभाग ने वर्ष 2014 में 1,19,617 वाहनों का चालान किया, जबकि 2981 वाहनों को सीज किया गया। आंकड़ों पर गौर करें तो प्रति माह 9,968 वाहनों का चालान काटा गया जबकि प्रतिदिन 332 वाहनों का चालान हुआ। वहीं प्रतिमाह 248 वाहनों को सीज किया गया जबकि प्रतिदिन आठ वाहनों पर कार्रवाई की गई। Captureइसमें वह लोग भी शामिल हैं जो नियमों की बात तो करते हैं लेकिन पालन नहीं करते हैं। इतना ही नहीं यह लोग पुलिस को धमकी देने से भी बाज नहीं आते। ऐसे लोगों की संख्या प्रतिदिन 90 से 100 तक है। वहीं सिविल पुलिस द्वारा वर्ष 2014 में 84,226 वाहनों का चालान किया गया। कुल मिलाकर वर्ष 2014 में 2,03,843 वाहनों का चालान किया गया। सिविल पुलिस और यातायात पुलिस के आंकड़ों पर गौर करें तो प्रतिदिन लगभग छह सौ लोग नियमों को तोड़ते हैं।

Pin It