पुलिस पर मुकदमा दर्ज न करने का आरोप

पीडि़ता को टरकाती रही हजरतगंज कोतवाली पुलिस

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। हजरतगंज थाना क्षेत्र में रहने वाली एक महिला के साथ दुष्कर्म के मामले को पुलिस दर्ज करने में हीलाहवाली बरत रही है। महिला अपने साथ हुई घटना की रिपोर्ट दर्ज करवाने के लिए दो दिन से थाने का चक्कर लगा रही है लेकिन पुलिस ने दुष्कर्म के बजाय मामूली धाराओं में मामला दर्ज कर महिला को टरका दिया है।
हजरतगंज थाना क्षेत्र के बहुखंडी झोपड़ पट्ïटी निवासी शीतल (काल्पनिक नाम) एक गरीब परिवार से है। जो घरों में झाड़ू-पोछा करती है। शीतल की मालकिन सुनीता तिवारी ने बताया कि उसके भाई कामाख्या की बीते 18 जुलाई को हत्या कर दी गयी थी। पीडि़ता के भाई का पैसा कई जगह बकाया था, जिसके चलते बीते बुधवार को पीडि़ता अपने भाई का पैसा लेने गई थी। वहां से लौटते समय रास्ते में क्षेत्रीय निवासी रमेश और सीताराम ने पीडि़ता को अकेला देखकर उसके साथ दुष्कर्म किया। दुष्कर्म की शिकार महिला ने जब अपनी मालकिन को आप-बीती बताई तो वह पीडि़ता के साथ एफआईआर दर्ज करवाने थाने पहुंची। लेकिन बुधवार से लेकर गुरुवार तक पुलिस ने दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज नहीं किया। पुलिस सिर्फ और सिर्फ पीडि़ता को टरकाती रही। इस मामले में थाना प्रभारी विजयमल यादव ने बताया कि ऐसी कोई भी वारदात नहीं हुई है। दोनों पक्षों के बीच पुराना विवाद चल रहा था। लेकिन दुष्कर्म का आरोप गलत है। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

Pin It