पुलिस नहीं कर पायी शिनाख्त

बोरे में युवती की निर्वस्त्र लाश मिलने का मामला

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। अलीगंज की पॉश कॉलोनी में बोरे में मिली युवती की निर्वस्त्र लाश की शिनाख्त नहीं हो पायी है। पुलिस ने काफी खोजबीन की पर शिनाख्त करने में विफल रही है। पुलिस की आशंका है कि युवती को किसी दूसरे शहर से यहां लाकर मारा गया है। इसे देखते हुए पुलिस ने अलीगंज व आसपास के क्षेत्रों में कमीशन लेकर नौकरी दिलवाने वाली एजेंसियों पर शिकंजा कसा है। उनके यहां काम करने वाली युवतियों के बारे में ब्यौरा उपलब्ध कराने को कहा है।
सीओ अलीगंज राजेश यादव ने बताया कि अब तक इस मामले में जानकीपुरम, ऐशबाग, मडिय़ाव, और नाका से लापता चार युवतियों के परिवारवाले शिनाख्त के लिए आए, लेकिन पहचान नहीं कर सके। आशंका यह भी है कि जिस लडक़ी की हत्या की गई, वह किसी दूसरे शहर की रहने वाली हो और नौकरी की तलाश में आई हो। फॉरेन्सिक मामलों के एक्सपर्ट ने पुलिस को बताया कि लडक़ी को जिस तरह से मारा गया है, ऐसा उसका कोई परिचित या फिर करीबी नहीं कर सकता। पुलिस को इंजीनियरिंग कॉलेज चौराहे और राम-राम बैंक चौराहे के पास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालने पर तीन संदिग्ध कारें दिखाई पड़ी हैं।

पत्रकारों पर हमले ठीक नहीं: राम नाईक

लखनऊ। यूपी के राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि पत्रकारों पर जिस तरीके से आए दिन हमले हो रहे है वह ठीक नहीं है। पत्रकारों की सुरक्षा का जिम्मा राज्य और केंद्र सरकार दोनों की है।
राज्यपाल लखनऊ में प्रेस क्लब में आपातकाल की याद आयोजित कार्यक्रम में यह बातें कही। इन दौरान उन्होंने इमरजेंसी को याद करते हुए कहा कि उस वक्त भी पत्रकारों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था और आज भी पत्रकारों के ऊपर लगातार हमले हो रहे हैं। ऐसा इसलिए हो रहा है कि कुछ लोगों को सच्चाई पसंद नहीं आ रही है। उन्होंने यह भी कहा कि पत्रकार लोकतंत्र का चौथा स्तंभ हैं और ऐसे में उनकी सुरक्षा का जिम्मा राज्य और केंद्र सरकार दोनों का है।
आपातकाल के दौर को याद करते हुए राम नाईक ने कहा कि उस दौर में आम आदमी सरकार के खिलाफ गुस्से से भरा हुआ था। हर जगह इसका विरोध हो रहा था। उन्होंने इमरजेंसी को अपने जीवनकाल का टर्निंग प्वाइंट बताया। राज्यपाल ने कहा कि अगर शायद देश में आपातकाल ना लगा होता तो वो कभी सक्रिय राजनीति में ना आते। उन्होंने इसके लिए इंदिरा गांधी को जिम्मेदार तो ठहराया लेकिन अपने सक्रिय राजनीति में आने की वजह उन्हें बताते हुए धन्यवाद दिया। इस अवसर पर अनेक लोग गणमान्य उपस्थित रहे।

Pin It