पुराने टेंडर निरस्त कर नये सिरे से होंगे एलडीए पार्किंग के ठेके

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। लखनऊ विकास प्राधिकरण अपनी समस्त भूमिगत पार्किंगों सहित अन्य पार्किंगों का संचालन खुद करेगा। इस वित्तीय वर्ष में एलडीए की 24 पार्किंगों के लिए दो बार टेंडर जारी करने के बाद भी अधिकांश पार्किंगों के लिए एक भी टेंडर नहीं आए हैं। वहीं कर्मचारियों की संख्या को देखते हुए एलडीए उपाध्यक्ष ने यह निर्देश दिया है। वीसी के इस निर्देश से जिन पार्किंगों के टेंडर हो चुके हैं। वह निरस्त कर दिए जाएंगे।
हजरतगंज की मल्टीलेवल पार्किंग एलडीए की सबसे महंगी पार्किंग है। इसका टेंडर रेट 5637592 पहली बार के टेंडर में तय था लेकिन टेंडर फाइनल न होने की वजह से दोबारा टेंडर जारी किए गए। पहली बार में टेंडर फाइनल न होने पर दूसरी बार टेंडर किए गए। लेकिन 18 में से अधिकांश पार्किंग ठेके नहीं हो सके। जानकारी के अनुसार एलडीए वीसी सत्येन्द्र सिंह ने सभी पार्किंगों के ठेके निरस्त करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने निर्देश दिया है कि एलडीए की पार्किंगों का संचालन एलडीए के कर्मचारियों से कराया जाए। पार्किंग संचालन के लिए लगभग 200 से अधिक कर्मचारियों की जरूरत होगी। इसके लिए चौकीदार, मेट व सफाई कर्मियों की तैनाती की जाएगी। अलग-अलग पार्किंगों पर कर्मचारियों की शिफ्टवार तैनाती की जाएगी। एलडीए अभी तक पार्किंगों के लिए ठेका देता रहा है। हालांकि कुछ पार्किंगों का ठेका निरस्त होने पर ठेके पर कर्मचारियों को तैनात कर प्राधिकरण वसूली कराता रहा है।

वसूली पर आधारित वेतन

मल्टीलेवल पार्किंगों के अलावा अन्य पार्किंगों पर कर्मचारियों की तैनाती के साथ शर्तें भी तय की जाएगी। मिली जानकारी के अनुसार जिन पार्किंगों का मूल्य आरक्षित किया गया है। कर्मचारियों कोउन पार्किंगों से वित्तीय वर्ष में उतनी ही वसूली करके देनी होगी। महीने भर की वसूली के आधार पर ही कर्मचारियों का वेतन निर्धारित होगा।

Pin It