पीएम मोदी ने की सीएम योगी की जमकर तारीफ, कहा कोरोना काल में यूपी ने किया शानदार काम

पीएम मोदी ने की सीएम योगी की जमकर तारीफ, कहा कोरोना काल में यूपी ने किया शानदार काम

पीएम ने किया आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान का आगाज

  • कोरोना संक्रमण में अनिश्चितता से घिरी दुनिया को यूपी दिखा रहा आईना
  • प्रवासी प्रदेशवासियों को लाने और रोजगार दिलाने में जुटे हैं सीएम योगी
  • सवा करोड़ लोगों को मिलेगा रोजगार, प्रदेश के कोरोना योद्धाओं के योगदान को भी सराहा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार के कारण लॉकडाउन में प्रदेश लौटे प्रवासी कामगार व श्रमिकों को रोजगार देने के लिए आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान की शुरुआत की। इस दौरान उन्होंने एक करोड़ 25 लाख लोगों को रोजगार देने के इस अभियान के कुछ लाभार्थियों से वार्ता भी की। इसके अलावा प्रधानमंत्री ने सीएम योगी आदित्यनाथ की जमकर तारीफ की।
पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने में उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने जो काम किया है वह अभूतपूर्व है। सीएम योगी के नेतृत्व में सरकार ने यूरोप, फ्रांस, इटली व स्पेन जैसे विकसित देशों को इस महामारी से अपने लोगों को बचाने के उपाय तथा निराकरण में काफी पीछे छोड़ दिया है। सीएम योगी ने 85 हजार जानें बचाईं। योगी सरकार ने आपदा को अवसर में बदलने का कोई मौका नहीं छोड़ा। संकट के हर मोड़ पर दृढ़ता से मुकाबला किया। उत्तर प्रदेश के प्रयास और उपलब्धियां इस संकट में इसलिए विराट हैं क्योंकि ये सिर्फ एक राज्य भर नहीं है बल्कि उत्तर प्रदेश दुनिया के कई देशों से बड़ा राज्य है। इस उपलब्धि को उत्तर प्रदेश के लोग खुद महसूस कर रहे हैं, लेकिन आप अगर आंकड़े जानेंगे तो और भी हैरान हो जायेंगे। कोरोना संक्रमण के लगातार प्रसार में छायी अनिश्चितता से घिरी दुनिया को आईना दिखाने का काम उत्तर प्रदेश ने किया है। दुनिया में इस संकट के कारण बड़ी तादाद में रोजगार छिनने की आशंकाएं थीं। ऐसे में जुझारू छवि वाले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने न सिर्फ दूसरे राज्यों से प्रवासी प्रदेशवासियों को वापस लाने की मुहिम छेड़ी बल्कि उन्हेंं रोजगार मुहैया कराने की कसरत भी शुरू कर दी। प्रधानमंत्री ने कहा कि आज जब दुनिया में कोरोना का इतना बड़ा संकट है, तब उत्तर प्रदेश ने जो साहस दिखाया, जो सूझबूझ दिखाई, जो सफलता पाई, जिस तरह कोरोना से मोर्चा लिया, वह अभूतपूर्व है, प्रशंसनीय है। पीएम ने कहा कि जिनके पास राशन कार्ड नहीं था, उनके लिए भी यूपी सरकार ने सरकारी राशन की दुकान के दरवाजे खोल दिए। सवा तीन करोड़ गरीब महिलाओं के जनधन खाते में लगभग पांच हजार करोड़ सीधे ट्रांफफर किए गए। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने प्रदेश के कोरोना योद्धाओं के योगदान की भी सराहना की।

एक करोड़ 25 लाख लोगों को दिया जाएगा रोजगार : सीएम

  • पीएम मोदी का जताया आभार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताते हुए यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना संकट के दौरान पीएम मोदी ने जो मंत्र दिया, उसका पालन किया गया। नतीजा यह निकला कि अकेले उत्तरप्रदेश में 30 लाख श्रमिकों की स्किल मैंपिंग की गई। पीएम के निर्देशानुसार आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान के तहत प्रदेश को 1 करोड़ 25 लाख लोगों को रोजगार दिया जाएगा। योजना में ग्राम विकास विभाग व पंचायती राज विभाग के जरिए 60 लाख से अधिक लोगों को रोजगार दिया जाएगा। योगी ने कहा कि कोरोना संकट के दौरान श्रमिकों को श्रमिक स्पेशल ट्रेन से वापस लाया गया, उन सभी को रोजगार देने के लिए प्रदेश सरकार प्रतिबद्घ है।

भी नहीं बनी कोरोना की दवा, दो गज की दूरी जरूरी

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस से आप लोग बचें। इसकी अभी तक न कोई दवा बनी है और न कोई टीका आया है। इसकी एक दवाई हमें पता है। ये दवाई है दो गज की दूरी। ये दवाई है- मुंह ढकना, फेसकवर या गमछे का इस्तेमाल करना। जब तक कोरोना की वैक्सीन नहीं बनती, हम इसी दवा से इसे रोक पाएंगे।

अन्य राज्यों को मिलेगी प्रेरणा

पीएम मोदी ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि योगी जी के नेतृत्व में, जिस तरह आपदा को अवसर में बदला गया है, जिस तरह वे जी-जान से जुटे हैं, देश के अन्य राज्यों को भी इस योजना से बहुत कुछ सीखने को मिलेगा, वह भी इससे प्रेरणा पाएंगे।

पीएम ने लाभार्थियों से की सीधी बात
पीएम ने उत्तर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों से बात भी की। लाभार्थियों से बात करने के दौरान पीएम मोदी एक सामान्य व्यक्ति की तरह दोस्ताना तरीके से पेश आए।
पीएम ने मांगा एक वादा
बहराइच से तिलकराम से पीएम ने बात की। वे पीएम आवास योजना की मदद से मकान बनवा रहे हैं। पीएम ने उनसे पूछा, आपको प्रधानमंत्री आवास मिला, पीएम को आप क्या देंगे? इस पर तिलकराम ने कहा, आप सारी जिंदगी प्रधानमंत्री रहें। पीएम ने कहा, मैं मांगता हूं कि बच्चों को जितना पढऩा है पढ़ाएं। हर साल चिट्ठी लिखकर बताएं कि बच्चों को कितने नंबर मिले। आपकों वादा पूरा करना है। हमने आपको आवास दिया। अब आप देश की भलाई के लिए बच्चों को पढ़ाएं।
मेहनत करो, आगे बढ़ो
सिद्धार्थनगर से वापस लौटे प्रवासी मजदूर कुर्बान अली ने पीएम मोदी से बात की। उन्होंने बताया कि वह मुंबई में राजमिस्त्री का काम करते थे। लॉकडाउन में वापस लौटकर आए। घर वापस लौटने पर राशन सामग्री दी गई और 1,000 रुपये की राशि की मदद भी मिली। गांव में काम भी मिला। अब शौचालय निर्माण में राजमिस्त्री का काम दिलाया गया है। हमारी ट्रेनिंग भी शुरू हो गई है। हमें सर्टिफिकेट भी मिला। पीएम ने उन्हें कहा कि खूब मेहनत करो और आगे बढ़ो।
आपत्ति को अवसर में बदलना आपसे सीखें
अहमदाबाद से गोरखपुर वापस लौटे नागेंद्र ने पीएम से बात की। जैसे ही उन्होंने बताया कि वह अहमदाबाद के राजीव नगर में रहते थे। तो पीएम ने हंसकर नागेंद्र से कहा, आप योगी जी के गांव के हैं और मेरे गांव में रह रहे थे। नागेंद्र ने बाताया कि वह वहां स्टील बर्तन का काम करते थे। लॉकडाउन में कंपनी बंद हो गई, वह वापस आ गए। बैंक से एक लाख रुपये डेयरी के लिए लोन लिया। पीएम ने कहा कि लोगों को आपसे सीखना चाहिए कि आपने आपत्ति को अवसर में बदल दिया।
जिन्हें विरासत में मिलता है, वे लुढक़ जाते हैं
संतकबीरनगर के अमरेंद्र कुमार से बात करते हुए मोदी ने उन्हें आगे बढऩे के सूत्र दिए। बैंक से कर्ज लेकर अपना छोटा सा व्यापार शुरू करने वाले अमरेंद्र ने जब बताया कि कैसे उन्होंने न सिर्फ खुद को रोजगार दिया बल्कि कई और लोगों को नौकरी पर रखा। उनके छोटे से व्यापार से कई लोगों के घर चल रहे हैं। पीएम ने उनसे कहा, छोटे से शुरुआत करने वाले ही आगे बढ़ते हैं। जिन्हें विरासत में मिलता है वह लुढक़ जाते हैं। मेहनत से जिंदगी बहुत आगे बढ़ती है।

https://www.youtube.com/watch?v=xNvheYPcGYg

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *