पीएम के निर्वाचन क्षेत्र में भी जल्दी दौड़ेगी मेट्रो: अखिलेश

Z1विश्व जनसंख्या दिवस पर सीएमएस के सैंकड़ो बच्चों ने निकाली रैली
मेट्रो की ड्रेस फाइनल करने पर सीएम ने पहनी टाई बोले बहुत दिनों बाद मिला टाई पहनने का मौका

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज एलएमआरसी का ड्रेस लांच करते हुए कहा कि 2017 से पहले लखनऊ में मेट्रो शुरू हो जायेगी। और उसके बाद प्रधानमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र बनारस में भी मेट्रो दौड़ेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश विकास की तरफ तेजी से बढ़ रहा है।
अपने निवास पर आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुए सीएम ने कहा कि देश में सबसे तेजी से लखनऊ मेट्रो का ही काम चल रहा है। राजस्थान से भी आधे समय में लखनऊ मेट्रो का काम पूरा हो जायेगा। उन्होंने मेट्रो में लगे अफसरों और कर्मचारियों को बधाई देते हुए कहा कि उनके इस सराहनीय प्रयास से विकास की नई राह खुलेगी।
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि उनकी सरकार संतुलन कायम रखती है अगर लखनऊ में मेट्रो शुरू करायी है तो साथ ही साइकिल टै्रक भी बनाये जा रहे हैं।
उनको विपक्ष पर कटाक्ष करते हुए कहा कि जिस तरह लोहिया पार्क में विपक्ष के लोग ताजी हवा लेने जाते हैं वैसे ही मेट्रो में भी विपक्ष के लोगों को चलने का मौका मिलेगा। उन्होंने कहा कि वह सबके विकास की बात सोचते हैं। उन्होंने कहा कि जब उन्होंने मेट्रो की बात की तो सबने मजाक उड़ायी थी मगर जब मेट्रो के पिलर बन गये तब सबकी बोलती बंद हो गयी।
सीएम ने कहा कि अगर उत्तर प्रदेश का विकास होगा, तो पूरे देश का विकास होगा। क्योंकि यूपी देश का सबसे बड़ा राज्य है। उन्होंने कहा कि यूपी की जमीन सबसे उपजाऊ जमीन है और यूपी के विकास के साथ-साथ ही आम आदमी का विकास शुरू होगा।
सीएम ने कहा कि उनकी सरकार आम आदमी के हितो के लिए अपना सर्वस्य अर्पण करने को तैयार है। यह पहली सरकार है जिसने 45 लाख लोगों को समाजवादी पेंशन दी, क्योंकि आम आदमी के दुख दर्द का सरकार को पूरा एहसास है और उनके दुख दर्द को दूर करना चाहती है।

बारिश में भी भारी उत्साह था बच्चा में
आज सुबह से ही हल्की बूंदा-बांदी शुरू हो गयी थी। मगर सीएमएस के बच्चों में भारी उत्साह था कि आज वह सीएम के सामने साइकिल चलाते हुए जायेंगे। बारिश हुई इन बच्चों के उत्साह के कम न कर सकी। मुख्यमंत्री ने भी इन बच्चों के हौसलों को बढ़ाया। आज सुबह लगभग आठ बजे सीएमएस से छात्रों का काफिला साइकिल से निकला और मुख्यमंत्री निवास तक पहुंचा।

पिटाई के बाद जेल में डरा हुआ है अमनमणि

लखनऊ। अमनमणि त्रिपाठी ने ठान ली है कि वह सुधरेगा नहीं। पत्रकारों के साथ गुंडई करने पर धुनाई हुई तो भी उसकी ठसक कम नहीं हुई। पुलिस गिरफ्तार कर जेल ले गई तो वहां भी गुंडई करने से बाज नहीं आया। बंदी रक्षकों को अपने रौब में लेने की कोशिश की तो वहां भी जमकर पिटाई की और उसे तन्हा बैरक में डाल दिया। भले ही अमनमणि जेल में बंद है पर उसके गुर्गे बाहर अपनी गुंडागर्दी करने से बाज नहीं आ रहे है। वे सारा के परिवारवालों को जान से मारने की धमकी दे रहे है और केस वापस लेने को कह रहे हैं। इस घटना के बाद अमनमणि बहुत डरा हुआ है और उसे जेल की तनहाई में रखा गया है।
सिविल अस्पताल में शुक्रवार को मीडियाकर्मियों से बदसलूकी के मामले में हजरतगंज कोतवाली में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। इसके साथ ही अमनमणि के दो साथियों गोरखपुर के संजय कुशवाहा और महानगर निवासी राजकमल त्रिवेदी को गिरफ्तार कर लिया गया है। हजरतगंज कोतवाली से प्राप्त जानकारी के मुताबिक अमनमणि के खिलाफ धारा 352, 504, 506 और 427 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया।
दरअसल अमनमणि की पत्नी सारा की रोड एक्सीडेंट में गुरुवार को मौत हो गई थी। उसकी मौत पर मां और परिवार के सदस्यों ने संदेह व्यक्त करते हुए सीबीआई जांच की मांग कर रहे है। अब तो मामला और उलझ गया है। सारा के अंतिम संस्कार के दौरान भैसाकुंड पर रखे रजिस्टर में नाम के आगे भी हेरफेर किया गया है। सारा के नाम के साथ पहले वाइफ आफ अमनमणि लिखा गया और बाद में काटकर डॉटर आफ अशोक सिंह लिखा गया है। नगर निगम की ओर से जारी किए गए डेथ सार्टीफिकेट में भी पति का नाम बाद में जोड़ा गया है। अमन और सारा ने प्रेम विवाह किया था और सारा की अंतिम विदाई में भी अमन शामिल नहीं हुआ। सारा को मुखाग्नि उसके भाई सिद्धार्थ ने दी, जबकि इस पर अमन का हक था। सारा की मां भी रोते हुए यही बात कह रही थी कि सुहागिन बेटी को पति के हाथ की आग भी नसीब नहीं हुई।

Pin It