पिता-पुत्र की हत्या करने वाले दो हत्यारोपी गिरफ्तार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सरोजनीनगर के बिजनौर कस्बे में बीते सोमवार की देर शाम पिता-पुत्र की हत्या के मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार करने का दावा किया है। हत्या मिट्टी खनन, प्रापर्टी व वर्चस्व को लेकर हुई थी। सरोजनीनगर पुलिस ने इस हत्याकांड के दो नामजद आरोपियों कुंदन यादव व संजय यादव को मुखबिर की सूचना पर इलाके के नटकुर पुलिया के पास से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने पकड़े गये हत्यारोपियों के पास से घटना में इस्तेमाल किया गया। .32 बोर का पिस्टल व 315 बोर का एक तमन्चा तथा 6 कारतूस बरामद करने का दावा किया है। एसओ सुरेश यादव का कहना है कि इस दोहरे हत्याकांड में शामिल एक जिला पंचायत सदस्य सहित अन्य तीनों आरोपियों को भी गिरफ्तार करने के लिए पुलिस की तीन टीमें उनके संभावित स्थानों पर दबिश दे रही है।
बता दें कि सरोजनीनगर के सरवननगर-बिजनौर निवासी किशनचन्द्र यादव (52) मौरंग गिट्टी के सप्लायर थे। उनका बड़ा बेटा बब्लू (25) प्रॉपर्टी डीलिंग के साथ ही मिट्टी खनन का कारोबार करता था। जबकि छोटा बेटा संदीप (22) बीटेक की पढ़ाई कर रहा है।
बीते सोमवार रात करीब 10 बजे किसी शख्स ने बब्लू को फोन कर बिजनौर स्थित हनुमान मंदिर के पास मिलने बुलाया। परिवारीजनों की मानें तो फोन पर बात होने के बाद बब्लू काफी गुस्से में घर से निकला, उसे बेहद गुस्से में देख उसका पिता किशनचन्द्र व छोटा भाई संदीप भी उसके पीछे निकल पड़े। जहां बिजनौर बाजार में शराब ठेके के पास मौजूद अनूपखेड़ा-बंथरा निवासी कुंदन यादव, गप्पू, संजय यादव, ज्ञानेन्द्र आदि से बब्लू की कहासुनी हुई और इसी बीच कुंदन पक्ष से ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू हो गई। इस घटना में किसन चन्द्र के सीने में गोली लगने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई थी। जबकि सिर में गोली लगने से घायल बब्लू ने ट्रॉमा में दम तोड़ दिया था। वही गंभीर रूप से घायल संदीप का अभी भी ट्रॉमा में इलाज चल रहा है।

आठ शातिर चेन लुटेरे गिरफ्तार

लखनऊ। राजधानी पुलिस ने अलग-अलग थाना क्षेत्रों से शातिर आठ चेन लुटेरों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी हुसैनगंज और आशियाना पुलिस ने की है।
एएसपी पूर्वी राजीव मल्होत्रा ने बताया कि हुसैनगंज थानाध्यक्ष शिवशंकर सिंह के नेतृत्व में छह लुटेरे गिरफ्तार किये गये। इनके पास से असलहा और लुटी गई चेन बरामद हुई है। लुटेरों में सूरज, सिन्टू उर्फ उमेश, सुमित यादव, आकाश उर्फ गोल्डी, विवेक और शाहरूख शामिल है। शिवशंकर सिंह ने बताया कि सुमित वूमेन पावर चौराहे पर खड़ा होकर रेकी करता था। जबकि लूट की घटना कोई और करता था। वहीं आशियाना पुलिस ने विजय कुमार उर्फ धन्नजय तथा जीवन कुमार को गिरफ्तार किया। दोनों शामली से आकर अपराध करने के बाद वापस लौट जाते थे।

Pin It