पिछड़े वर्ग के छात्रों के लिए होगा छात्रावासों का निर्माण

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश सरकार पिछड़े वर्ग के छात्रों को पढ़ाई के दौरान आवासीय सुविधा मुहैया कराने जा रही है। इसके लिए पांच नए छात्रावासों का निर्माण करवाया जाएगा। शासन ने 350.77 लाख रुपये की धनराशि स्वीकृत कर दी है।
पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रदेश के मदन मोहन मालवीय इंजीनियरिंग कालेज गोरखपुर तथा कांशीराम इंजीनियरिंग कालेज आफ इन्फारमेशन टेक्नोलाजी अम्बेडकरनगर में गर्ल्स हास्टल, राजकीय इंटर कालेज बंगारा जालौन, राजकीय पालीटेक्निक बहराइच तथा राजकीय जुबली इण्टर कालेज गोरखपुर में ब्वायज हास्टल का निर्माण यूपीपीसीएल और पैकफेड कार्यदायी संस्था द्वारा कराया जायेगा। प्रति छात्रावास निर्माण की लागत 207.64 लाख रुपये आयेगी।
पिछड़े वर्गों के छात्रों के लिए छात्रावास निर्माण योजना 50 फीसदी केंद्र पोषित योजना है। अब तक प्रदेश में कुल 96 छात्रावासों को निर्माण कराया जा चुका है। इसमें 58 छात्रों के लिए तथा 38 छात्राओं के लिए है। इन छात्रावासों में 50 छात्र तथा 50 छात्राओं के रहने की व्यवस्था है। 100 छात्र एवं छात्राओं की क्षमता के छात्रावासों का निर्माण किया जाना भी प्रस्तावित है।

क्या कहते हैं पिछड़ा वर्ग के अध्यक्ष
पिछड़ा वर्ग के अध्यक्ष राम आसरे विश्वकर्मा का कहना है कि यह प्रस्ताव पिछड़ा वर्ग कल्याण की ओर से केंद्र सरकार को गया था। पांच की स्वीकृति मिल गई है, तीन की प्रतीक्षा यूपी सरकार को अभी भी है। सरकार की एक बहुत अच्छी कोशिश है।

Pin It