पाकिस्तान के पैंतरे पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने बुलाई उच्च स्तरीय बैठक

अब्दुल बासित के शांति प्रक्रिया खत्म होने के बयान से गरमाई राजनीति नई

दिल्ली। भारत में पाक के उच्चायुक्त अब्दुल Captureबासित के भारत के साथ शांति प्रक्रिया खत्म होने की बात कहे जाने के बाद दिल्ली में सियासी पारा तेज हो गया है। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मामले को लेकर एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाई। इसमें पाकिस्तान के बदले रवैये पर चर्चा हुई। गृहमंत्री राजनाथ ने राष्टï्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, आईबी प्रमुख सईद आसिफ इब्राहिम और गृह सचिव से बातचीत की। शांति प्रक्रिया पर पाकिस्तान के यू-टर्न के बाद हुई यह बैठक काफी खास है। बासित के बयान के बयान के बाद राष्टï्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) टीम के पाकिस्तान जाने पर पानी फिरने के बाद विदेश मंत्रालय ने कहा है कि पाक टीम का दौरा इसलिए हुआ क्योंकि दोनों देशों की टीम के एक-दूसरे के यहां जाने पर सहमति बनी थी।
राष्टï्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने अपने पाकिस्तानी समकक्ष नसीर खान जांजुआ से फोन पर बात की हैं। पाकिस्तानी उच्चायुक्त अब्दुल बासित के बयान के बाद बने हालात पर बातचीत की गई है। डोभाल ने साफ किया कि विदेश सचिव की बातचीत के लिए दोनों देश एक-दूसरे के संपर्क में हैं, और इसकी रूपरेखा तैयार हो रही है। जेआईटी के भारत आने से पहले दोनों पक्ष इस बात पर सहमत हुए थे कि उनकी टीम यहां आएगी और हमारी टीम वहां जाएगी।
मामले पर भाजपा प्रवक्ता नलिन कोहली ने कहा कि पठानकोट आतंकी हमले के बाद यह पाकिस्तान के प्रधानमंत्री थे, जिन्होंने कहा था कि कार्रवाई हो रही है। इसी संदर्भ में जेआईटी आई और अब संभवत: भारतीय टीम वहां जाएगी। दूसरी तरफ भारत के पूर्व पाक उच्चायुक्त विवेक काटजू ने कहा कि बासित ने जो कहा वह उनके देश का स्टैंड है। ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि पाक की सेना नहीं चाहती कि भारत के साथ संबंध अच्छे हों। शांति प्रक्रिया निलंबन पाक का ड्रामा है। मामले पर कांग्रेस के प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि मोदी सरकार पाक के हाथों में खेल रही है। पाकिस्तान दुष्ट राष्टï्र बना रहेगा।

Pin It