परीक्षा दिलाने के आश्वासन के बाद नहीं कराईं परीक्षाएं

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ से बाज नहीं आ रहा है। ताजा मामले में परा स्नातक के छात्रों को परीक्षा दिलाने के आश्वासन के बाद भी उनकी परीक्षाएं नहीं करायी गयी। सेमेस्टर परीक्षा से रोके गए स्टूडेंटस जब इसकी जानकारी लेने विवि पहुंचे तो उन्हें कोई सकारात्मक जवाब नहीं मिला। छात्राओं के सवाल करने पर परीक्षा विभाग चुप्पी साधे हुए है और छात्र साल बर्बाद होने की वजह से परेशान हैं।
बताते चलें कि लखनऊ विवि ने दो साल पूर्व के आदेश के आधार पर उन छात्रों का पीजी में तीसरे सेमेस्टर में प्रवेश ले कर परीक्षा फार्म तक भरवा दिया जो छात्राएं पहले और दूसरे सेमेस्टर में फेल थी। जब यह छात्राएं सात नवम्बर को परीक्षा देने विवि पहुंची तो परीक्षा कक्ष के बाहर उन्हें यह कह कर रोक दिया गया कि आप लोग परीक्षा के लिए अर्ह नहीं हैं। इसके बाद छात्राएं अपनी समस्या को लेकर परीक्षा नियंत्रक के पास पहुंची तो उन्होंने छात्रों को आश्वासन दिया की कोर्ट में इसी प्रकार का एक छात्रा का केस लगा है आज चार बजे तक उसकी सुनवाई हो जाएगी। उसेमें जो भी फैसला होगा उस आधार पर परीक्षा करायी जाएगी। कोर्ट से उस छात्रा को राहत मिलने के बाद अन्य छात्राओं को भी यह आश्वासन दिया गया कि जल्द ही आप लोगों की परीक्षा तिथि निर्धारित कर सूचना भेज दी जाएगी। अब किसी प्रकार की सूचना न मिलने पर छात्र विवि के चक्कर लगा रहे हैं। छात्रों का आरोप है कि विवि और महाविद्यालय एक दूसरे पर दोषारोपण कर रहे हैं। इसका जिम्मेदार कौन है हमें यह तो नहीं पता लेकिन विवि और महाविद्यालय की वजह से हमारा भविष्य बर्बाद हो रहा है। इस संबंध में परीक्षा नियंत्रक से बात करने की कोशिश की गई लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो पाया।

Pin It