परिजनों को अपहरण की सूचना देकर स्वयं बरामद हो गई छात्रा

सरोजनीनगर थाना क्षेत्र का मामला, घंटों परेशान रही पुलिस

 ४पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सरोजनीनगर में एक छात्रा ने अपने अपहरण की सूचना स्वयं परिजनों को देने के बाद नाटकीय ढंग से वापस लौट आई। छात्रा की इस सूचना पर पुलिस घंटों परेशान रही। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। पुलिस के मुताबिक छात्रा इस मामले में सच्चाई छिपाने का प्रयास कर रही है।
सरोजनीनगर के हिन्दनगर, सेक्टर-ई निवासी खूबचन्द्र खत्री की बेटी माला (२२) रायबरेली रोड स्थित एक मैनेजमेन्ट कालेज में एमबीए की छात्रा है। परिजनों के मुताबिक माला मंगलवार अपराह्न करीब तीन बजे घर से थोडी दूर पर मोबाइल रिचॉर्ज कराने गयी थी। तभी कार सवार तीन बदमाशों ने सेक्टर-ई तिराहे के पास उसे अपनी सफेद कार में डाल लिया और कानपुर रोड होते हुए चारबाग की ओर ले भागे। माला के मुताबिक कार की पिछली सीट पर सवार दो बदमाशों ने कपड़े से उसका मुंह बांधने के साथ ही रस्सी से दोनो पैर भी बांध दिए। इसी बीच माला ने किसी तरह अपने मोबाइल से मैसेज कर अपनी बहन सपना को मामले की जानकारी दी। बदमाश उसे कार से लेकर चारबाग स्टेशन के पास पहुंचे और कार से नीचे उतर कर आपस में बात करने लगे। तभी मौका पाकर माला ने पैरो में बंधी रस्सी खोली और कार से उतर कर शोर मचाते हुये जीआरपी थाने की तरफ भागी। माला की चीख पुकार सुनकर एक जीआरपी महिला सिपाही उससे पूछतांछ करने लगी। इसी बीच कार सवार बदमाश कार सहित फरार हो गये। जीआरपी पुलिस ने इसकी सूचना माला के परिजनों को दी। सूचना के बाद पहुंची पुलिस माला को अपने साथ ले आई।
सूत्रों के अनुसार खूबचन्द्र खत्री के घर पर सोमवार को भी बाइक सवार दो युवक पहुंचे थे। घर पर अकेली मौजूद माला के शोर मचाने पर पड़ोसी दौड़े तो दोनों युवक बाइक सहित भाग निकले। इसकी सूचना उसी समय पुलिस को दी गयी, लेकिन मौके पर पहुंची पुलिस सिर्फ खानापूर्ति कर वापस लौट गयी।

Pin It