पंचायत का फरमान, कहा रेपिस्ट उठाएं पीडि़ता की शादी का खर्चा

  • लडक़ी के परिजनों पर थाने में शिकायत नहीं करने का बनाया गया दबाव

  • दो दिन तक चली पंचायत के बाद परिजनों ने दर्ज कराया मामला

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

Captureगाजियाबाद। जिले में एक बार फिर पंचायत का तुगलकी फरमान चर्चा का केंद्र बन गया है। यहां पंचायत ने एक लडक़ी की आबरू को तार-तार करने वाले आरोपी को कानूनी कार्रवाई से दूर रखते हुए पीडि़ता की शादी का खर्चा उठाने का फरमान जारी किया है। पंचायत ने इस मामले में पीडि़त परिवार को किसी भी तरह की कोई भी कानूनी कार्रवाई न करने का सख्त निर्देश दिया और आरोपी को महज शादी के खर्च को वहन करने का फैसला सुनाते हुए मामले को निपटाने का हुक्म दे दिया।
मुरादनगर में एक लडक़ी के साथ उसके ही रिश्तेदार पिछले काफी समय से दुष्कर्म कर रहा था और लडक़ी को इस बात को किसी से कहे नहीं इसलिए उसे डराता और पीटता रहता था। लेकिन बात के सामने आ जाने पर मामले में पंचायत ने अपना फैसला दिया कि पीडि़ता की शादी का खर्च आरोपी वहन करेगा और कोई कानूनी कार्रवाई नहीं होगी।
लेकिन पंचायत के फैसले के बाद दो दिनों तक दवाब में रहने के बाद आखिरकार परिजनों ने रविवार को मुकदमा दर्ज करा दिया। मिली जानकारी के मुताबिक पीडि़ता के साथ रेप का पता जब लडक़ी के परिवार वाले को चला तो उन्होंने पुलिस में इसकी शिकायत की। लेकिन, पंचायत ने लडक़ी के पिता पर दबाव बनाया और फैसला सुनाया कि वो केस वापस ले लें और लडक़ी की शादी का खर्च आरोपी वहन करेगा। दबाव में आकर पुलिस को दी गयी शिकायत भी वापस ले ली गई। लेकिन, 2 दिन चली पंचायत के बाद अब लडक़ी के परिजनों ने पंचायत का फैसला मानने से इनकार कर दिया और थाने में रिपोर्ट दर्ज करा दी है। फिलहाल पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है, लेकिन पुलिस पंचायत में शामिल लोगों पर कार्रवाई करने से कतरा रही है।

Pin It