न्याय के बजाए कलाकारों को मिल रही हैं धमकियां

  • जांच होने तक निदेशक को पद से हटाने की रखी मांग

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के गोमतीनगर स्थित भारतेंदु नाट्य एकेडमी की एक महिला कलाकार के साथ हुई बदसलूकी के विरोध में कई दिनों से कलाकार प्रदर्शन कर रहे हैं, जिसकों देख एकेडमी के अधिकारी व कर्मचारियों ने कलाकारों को धमकी देना शुरू कर दिए हैं।
बीते कई दिनों से भारतेंदु नाट्य एकेडमी की महिला कलाकार के सपोर्ट में सहकलाकारों ने संस्थान के निदेशक द्वारा किए जा रहे उत्पीडऩ के खिलाफ प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री से न्याय की गुहार लगाई थी। वहीं कलाकारों को रोकने के लिए निदेशक के पक्ष में एकेडमी के अधिकारियों व कर्मचारियों ने कलाकारों को धमकी दी कि यदि वह प्रदर्शन करना बंद नहीं करेंगे तो उनका अप्रैल का मानदेय रोक दिया जाएगा। साथ ही इन कलाकारों के प्रवेश पर भी खतरा मंडरा रहा है। कलाकारों का कहना है कि हम एकेडमी के इस प्रकार की तानाशाही को कतई बर्दाशत नहीं करेंगे। हम अपने आंदोलन को और बढ़ाएंगे। कलाकारों का कहना है कि शनिवार और रविवार अवकाश रहता है। इसके बावजूद हम लोग अवकाश के दिन भी यहां आकर नाटक का अभ्यास करते हैं, तब तो कोई बंदिश नहीं लगाई गई। इससे पूर्व भी अवकाश के समय प्रवेश प्रक्रिया हुई तो अब इसे गलत कैसे बताया जा रहा है। हम लोगों ने इसकी शिकायत संस्कृति विभाग में की थी, लेकिन कई दिन बीतने के बाद भी अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। पीडि़त कलाकारों ने कार्यवाहक निदेशक और अकादमी के अधिकारियों व कर्मचारियों से बातचीत की है। उन्होंने संस्कृति राज्यमंत्री से जांच होने तक कार्यवाहक निदेशक के पद से मनोज कुमार सिंह को हटाने की मांग की है।

Pin It