नोटबंदी से लाइन में मरने वाले परिवारों को दो-दो लाख दिए सीएम अखिलेश ने

नोटबंदी से लोग परेशान हैं, जनता नहीं जान पाई अच्छे दिनों का सपना शहीदों के परिवारों को दिए चेक

capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज अपने आवास पांच केडी के जनता दर्शन हाल में लोगों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने नोटबंदी से लाइन में मरने वाले लोगों के परिजनों को दो-दो लाख के चेक वितरित किए। उन्होंने शहीदों के परिवारों व धरना-प्रदर्शन के दौरान मृत शिक्षक के परिवार को भी चेक प्रदान किया।
उन्होंने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि नोटबंदी से लोग परेशान हैं, जो सरकार जनता को दुख देती है उसे जनता हटा देती है। कालाधन और भ्रष्टïाचार खत्म होना चाहिए। उन्होंने कहा कि पैसा काला सफेद नहीं होता लेन-देन होता है। एटीएम से भी लोगों को पैसा नहीं मिल पा रहा है। लोगों को खर्च करने की आजादी होनी चाहिए।
उन्होंने कहा कि किस ब्रांच में कितना पैसा है, इसका पता नहीं चल पा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादी लोग सरकार बनाएंगे। उन्होंने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अच्छे दिन का सपना जनता नहीं जान पाई। हमारा विकास रथ विजय की ओर बढ़ रहा है। समाजवादियों ने विकास के तमाम कार्य किए हैं। समाजवादी पेंशन की रकम सीधे खातों में जा रही है। उन्होंने कहा कि सपा सरकार शहीदों के परिवार की मदद करेगी। जितनी साइकिल चलेगी उतनी ही बहुमत की सरकार बनेगी। भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि मोटर साइकिल वाले गिर जाएंगे। मुख्यमंत्री ने आज कुल 18 लाभार्थियों को चेक वितरित किए। इसमें शहीदों को 25 -25 लाख दिए गए। वहीं अलग-अलग जनपदों में नोटबंदी की लाइन में हुयी मृत्यु में 2-2 लाख और प्रदर्शन के दौरान शिक्षक की पुलिस लाठीचार्ज में हुयी मृत्यु पर परिजनों को चेक दिये।

विधायकों व पदाधिकारियों से की मुलाकात
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज अपने आवास पांच केडी में सपा विधायकों और पदाधिकारियों की बैठक बुलाई। बैठक में मुख्यमंत्री ने विधायकों और पदाधिकारियों को आगामी विधानसभा चुनाव में जीत के टिप्स दिए। साथ ही सभी को अपने क्षेत्रों में समाजवादी पार्टी के कामों का प्रचार करने को भी कहा है। इस बैठक में पूरे प्रदेश से सपा विधायक और पदाधिकारी पहुंचे। गौरतलब है कि सीएम अखिलेश ने शुक्रवार को टिकट के बंटवारे को लेकर 5केडी पर बैठक की थी। इस दौरान सीएम ने पहली बार जीते विधायकों से अपने सरकारी आवास पर मुलाकात की थी। 22 दिसंबर को विधानसभा सत्र खत्म हुआ है। ऐसे में सीएम के बिजी शेड्यूल के चलते विधायकों की उनसे मुलाकात नहीं हो सकी थी।

Pin It