नोटबंदी पर सहयोग नहीं कर रहीं प्रदेश सरकारें: कलराज

  • बसपा शासनकाल में हुआ था सबसे अधिक भ्रष्टाचार

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

captureलखनऊ। केन्द्र सरकार के मंत्री कलराज मिश्र ने नोटबंदी पर प्रदेश सरकारों की तरफ से सहयोग नहीं मिलने की बात कही है। उन्होंने आरोप लगाया कि जनता को हो रही परेशानी से सरकार भली-भांति परिचित है। इस समस्या से निपटने का पूरी तरह से प्रयास किया जा रहा है लेकिन प्रदेश सरकार नोटबंदी के मामले में सहयोग नहीं कर रही है। इसलिए जनता को काफी मुश्किलें पेश आ रही हैं।
कलराज मिश्र ने परिवर्तन यात्रा के दौरान अपने संबोधन में कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है। यहां अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाय संरक्षण देने का काम किया जा रहा है। प्रदेश सरकार का मंत्री बलात्कार जैसे संवेदनशील मुद्दे पर उल्टे सीधे बयान दे रहा है। ऐसे में सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि प्रदेश सरकार और सरकार में शामिल मंत्रियों की मंशा क्या है। श्री मिश्र ने कहा कि परिवर्तन यात्रा के दौरान सवा करोड़ जनता के साथ सीधा संवाद किया जा रहा है। सरकार केन्द्र सरकार के नोटबंदी के फैसले से खुश है। लेकिन प्रदेश सरकारों के सहयोग न करने से समस्या बनी हुई है। उन्होंने गन्ना किसानों को समय से भुगतान न करने और केन्द्र सरकार की तरफ से आर्थिक मदद भेजे जाने के बाद भी नहीं मिल पाने को लेकर प्रदेश सरकार को कटघरे में खड़ा किया। केन्द्रीय मंत्री ने बसपा पर भी निशाना साधा और कहा कि बसपा प्रमुख मायावती के शासनकाल में प्रदेश में भ्रष्टाचार का बोलबाला रहा है। आज कालेधन पर लगाम लगाने के मकसद से किए गए नोटबंदी के फैसले का सबसे अधिक विरोध मायावती ही कर रही है। क्योंकि सबसे अधिक नुकसान उन्हीं को हुआ है। इसलिए प्रदेश में बदलाव की जरूरत है। जनता आने वाले चुनाव में बीजेपी को पूर्ण बहुमत देकर जिताये, तो आने वाले समय में यूपी में विकास के साथ ही सुरक्षा और रोजगार को भी बढ़ावा मिलेगा।

Pin It