नोटबंदी: कांग्रेस का पीएम मोदी पर हमला लखनऊ में बैंकों के सामने लंबी कतारें

पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम ने नोटबंदी को बताया सबसे बड़ा घोटाला, जांच की मांग
आज भी राजधानी के सभी बैंकों में रही कैश की किल्लत

safg14पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। नोटबंदी को लेकर पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। पूर्व वित्तमंत्री चिदंबरम ने कहा कि केंद्र ने 500 रुपये का नोट बंद क्यों किया, जबकि यह सबसे ज्यादा चलन में था। उन्होंने सवाल किया कि सरकार 2000 का नोट क्यों लाई। यह सबसे बड़ा घोटाला है, इसकी जांच होनी चाहिए। उन्होंने इस नोटबंदी के फैसले को खोदा पहाड़ और निकली चुहिया बताया।
चिदंबरम ने कहा कि यह कदम बिना सोच-विचार के उठाया गया है। अब तक 91 लोगों की बैंकों की लाइन में मौत हो गई। लोग कतार में हैं और उन्हें महज 2500 रुपये मिल रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों को सजा दे रही है। गांवों के बाजार और मंडी कई दिनों से बंद हैं। उन्होंने कहा कि 50 दिनों में हालात ठीक नहीं होंगे। चिदंबरम ने कहा कि हालात बहुत खराब हो चुके हैं। देश भर में अफरातफरी का माहौल है। ये कैसे ठीक होगा। उन्होंने कहा कि एक महीने में 300 करोड़ से ज्यादा नोट नहीं छपते। उन्होंने कहा कि नोटबंदी का फैसला गरीबों पर हमला है। इससे किसानों की कमर टूट गई है। पूर्व वित्त मंत्री ने पूछा, क्या नोटबंदी के फैसले से भ्रष्टाचार कम हो गया है? इससे अमीरों को परेशानी हो रही है, यह केवल भ्रम है। उन्होंने कहा कि हकीकत यह है कि इस फैसले के कारण केवल गरीब ही पिस रहा है। लोग अपना ही पैसा बैंकों से लेने के लिए परेशान हो रहे हैं। इस घोटाले की जांच होनी  चाहिए। विस्तृत खबर पेज दो पर मोदी के दोस्तों पर 8 लाख करोड़ का कर्जा इसलिए की गई नोटबंदी: राहुल कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज दादरी में कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के दोस्तों पर आठ लाख करोड़ का कर्ज है। इन दोस्तों को लाभ पहुंचाने के लिए मोदी ने नोटबंदी का फैसला किया है। नोटबंदी के बाद भी कालेधन वाले लाइन में नहीं है। अब तो लोग कैशलेस हो चुके हैं।

बैंकों में उमड़ी भीड़
तीन दिन के अवकाश के बाद आज बैंक खुले। प्रदेश की राजधानी लखनऊ के तमाम बैंकों और एटीएम में लोगों की भीड़ लगी रही। राजधानी और आसपास के जिलों में तमाम एटीएम बंद रहे। कई बैंकों में कैश की किल्लत रही। लिहाजा अभी भी लोगों को पर्याप्त पैसा नहीं मिल पा रहा है।

सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों पर कैबिनेट की मुहर

अखिलेश यादव की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट मीटिंग के दौरान लिए गए महत्वपूर्ण फैसले
गंभीर बीमारियों में पांच लाख तक मुफ्त इलाज की मिलेगी सुविधा

लखनऊ। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की अध्यक्षता में आज सुबह लोक भवन में कैबिनेट मीटिंग हुई। कैबिनेट ने सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों पर मुहर लगा दी है। इससे अब वेतन में दस से 15 फीसदी की बढ़ोतरी होगी। वहीं गंभीर बीमारियों में पांच लाख तक मुफ्त इलाज के फैसले पर भी अखिलेश सरकार ने मुहर लगा दी है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने प्रदेश भर में बंद सिनेमाघरों को पुनर्जीवित करने, वैट नियमावली में संशोधन, 5 लाख तक कैशलेश इलाज की सुविधा, विशेष चिकित्साधिकारियों को 70 वर्ष तक की पुनॢनयुक्ति से संबंधित कई महत्वपूर्ण प्रस्तावों को पास किया गया। पुलिस विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों की विशेष जोखिम भरे कार्य के दौरान मृत्यु होने पर उनके परिजनों को 5 लाख रुपए की वित्तीय मदद देने को भी अनुमति दी गई है।
कैबिनेट मीटिंग में आगामी विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखकर कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए हैं। मुख्यमंत्री ने समाजवादी किसान सर्वहित बीमा योजना, चिकित्सा क्षेत्र में विशेषज्ञों की कमी दूर करने के लिए चिकित्साधिकारियों को 70 वर्ष तक की पुनर्नियुक्ति करने, जसवंतनगर के 9 गांवों को सैफई से जोडऩे, वैट नियमावली में संशोधन के प्रस्ताव पर मुहर लगाई। इसके अतिरिक्त जौनपुर नगर पालिका के सीमा विस्तार, राज्य सरकार के सार्वजनिक उपक्रम, निगम, संस्थाओं को स्वीकृत किए जाने वाले ऋण पर ब्याज दर निर्धारण, गोरखपुर में रामगढ़ताल के सौंदर्यीकरण, रामपुर में 1000 क्षमता के ऑडिटोरियम का निर्माण, बहराइच की सभी तहसीलों का पुनर्गठन और मिहीपुरवा नई तहसील बनाने के प्रस्ताव को भी अनुमति दी गई है। इटावा की तहसील जसवंत नगर के 9 गांव को तहसील जसवंत नगर से अलग कर तहसील सफाई में शामिल किए जाने का प्रस्ताव भी पास किया गया। इतना ही नहीं जिला मुख्यालयों को फोरलेन से जोड़े जाने की योजना के अंतर्गत जनपद बरेली और बदायूं में पीलीभीत बरेली-बदायूं-मथुरा भरतपुर का फोरलेन चौड़ीकरण और सुंदरीकरण कार्य संबंधित पुनरक्षित प्रस्ताव भी पास किया गया है। बैठक से इतर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि नोटबंदी से सभी परेशान हैं और जनता प्रदेश में सपा की सरकार चाहती है। यह चुनाव ऐतिहासिक होगा।

Pin It