नेताजी ने पार्टी कार्यालय पर लगवाया ताला, पहुंचे दिल्ली

फिर लगाई गई शिवपाल यादव की नेम प्लेट, जिसमें दिखाया गया उन्हें कैबिनेट मंत्री

captureलखनऊ। समाजवादी पार्टी में आंतरिक कलह के बीच मुलायम सिंह यादव पार्टी के चुनाव निशान साइकिल पर दावा ठोंकने के लिए दिल्ली पहुंच चुके हैं। वह कल चुनाव आयोग के सामने चुनाव निशान पर अपना दावा ठोंक सकते हैं। उनके साथ शिवपाल यादव भी हैं। वहीं दिल्ली निकलने से पहले नेताजी के निर्देश पर शिवपाल समर्थकों ने पार्टी कार्यालय के कमरों में ताला लगा दिया और उसकी चाबियां नेताजी अपने साथ ले गये। इतना ही नहीं शिवपाल यादव के कमरे के बाहर पुरानी नेम प्लेट भी लगा दी गई है।
राजनीतिक गलियारे में इस बात की चर्चा है कि अब पार्टी कार्यालय और चुनाव निशान दोनों को लेकर कलह और तेज हो गई है। हालांकि सपा मुखिया मुलायम सिंह ने पार्टी में चल रहे विवाद के सवाल पर मीडिया से कहा कि किसी भी तरह का विवाद नहीं है। सब कुछ ठीक चल रहा है। जबकि अखिलेश खेमे के सपा नेता नरेश अग्रवाल ने पार्टी के 90 प्रतिशत विधायकों का समर्थन अखिलेश के पक्ष में होने और चुनाव निशान पर उनकी पकड़ मजबूत होने की बात कही है। ऐसे में सपा और यादव परिवार में अंदरखाने क्या खिचड़ी पक रही है। इस बात को लेकर पार्टी कार्यकर्ता भी असमंजस में हैं।
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के खेमे के रामगोपाल यादव ने चुनाव आयोग में शनिवार को 205 विधायकों के समर्थन का हलफनामा पेश किया था। उन्होंने फिर दावा ठोंका कि असली समाजवादी पार्टी अखिलेश की अगुवाई वाली है। इसके साथ ही उन्होंने साइकिल चुनाव चिन्ह अखिलेश की अगुवाई वाली पार्टी को देने की मांग भी की है। उन्होंने कहा कि कुल 5731 में 4716 प्रतिनिधियों के हलफनामे भी हम चुनाव आयोग में दायर करेंगे।

Pin It