निष्क्रिय नेताओं को दोबारा सक्रिय करने की कवायद में जुटी कांग्रेस

  • प्रदेश भर में चलाया जायेगा कुनबा बढ़ाओ अभियान
  • किसी भी दल के नेता को सक्रिय राजनीति में आने का न्यौता देगी कांग्रेस

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अपना जनाधार बढ़ाने के उद्देश्य से कांग्रेस पार्टी ने राजनीति छोडक़र घर बैठने वाले नेताओं और निष्क्रिय नेताओं को दोबारा सक्रिय करने का फैसला किया है। इसके लिए प्रदेश भर में कांग्रेस कुनबा बढ़ाओ अभियान शुरू करेगी। संगठन को स्थानीय स्तर पर मजबूत करने के लिए निष्क्रिय होकर घरों में बैठे नेताओं को सक्रिय करने के लिए न्योता भेजा जाएगा। इसमें अन्य दलों के दमदार कार्यकर्ताओं को भी साथ लाने का प्रयास किया जाएगा।
कांग्रेस के तारण हार पीके की योजना के मुताबिक संगठन का दायरा व सक्रियता बढ़ाने का अभियान जल्द आरंभ किया जाएगा। सबको साथ लेकर काम देने की नीति के तहत उन पुराने नेताओं के दिन भी बदलेंगे जो विभिन्न कारणों से निष्क्रिय होकर पार्टी गतिविधियों से दूर हो चुके हैं। टीम पीके जिला व ब्लॉक स्तरीय बैठकों के दौरान ऐसे नेताओं की सूची तैयार कर चुकी है। पूर्व विधायक, पूर्व सांसदों और अन्य जनप्रतिनिधियों को स्थानीय कमेटियों में समायोजित करने के साथ ही उनके चुनावी अनुभव का लाभ भी लिया जाएगा। इसके अलावा पार्टी आंतरिक असंतोष को टकराव में बदलने से रोकने की रणनीति पर भी काम कर रही है। इसलिए राज्यसभा व विधान परिषद चुनावों में क्रास वोटिंग के आरोपी छह विधायकों-दिलनवाज खां, मोहम्मद मुस्लिम, काजिम अली, माधुरी वर्मा, संजय जायसवाल और विजय दुबे की विधानसभा सदस्यता खत्म कराने की कार्रवाई से भी पार्टी ने हाथ खींच लिए हैं। नेतृत्व का मानना है कि गलती स्वीकारने पर इन विधायकों में से कुछ को चुनाव में फिर आजमाया जा सकता है। पार्टी की मंशा मूल कांग्रेसियों को जोड़े रखने की है। वहीं मीडिया विभाग को भी मजबूती देने की पूरी कोशिश की जा रही है। मीडिया सेल के लोगों को विपक्ष के हमलों का तार्किक आधार पर जवाब देने के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा। नए प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने पुरानी टीम बनाए रखने के साथ साथ कई प्रवक्ताओं प्रोन्नत भी किए हैं। कम्युनिकेशन विभाग के चेयरमैन सत्यदेव त्रिपाठी ने बताया कि पुनर्गठित कमेटी में तीन वाइस चेयरमैन वीरेंद्र मदान, मारूफ खान व दिवाकर शास्त्री के अलावा सोशल मीडिया इंचार्ज शिव पांडेय को बनाया गया है। जबकि चार अन्य प्रवक्ताओं को प्रोन्नत किया है।

Pin It