नियमों की अनदेखी करने पर जा रही जानें

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में तेज रफ्तार और जल्दबाजी के फेर में शहर की सडक़े खूनी होती जा रही हैं। आए दिन होने वाली दुर्र्घटनाओं में लोगों की मौत हो रही है। वजह है कि वाहन स्वामी यातायात नियमों का पालन करने के बजाय उन्हें अनदेखा करते हैं। जिसकी कीमत उन्हें जान देकर चुकानी पड़ती है।

एक माह के भीतर हुए हादसे
15 सितंबर 2०15- मोहनलालगंज थाना क्षेत्र के खंडविकास कार्यालय के पास लखनऊ-रायबरेली हाईवे मार्ग पर सुबह लखनऊ से 34 सवारी लेकर इलाहाबाद जा रही प्रयाग डिपो की बस खङ़े ट्रक में जा घुसी। हादसे में बस के चालक व परिचालक गम्भीर रूप से घायल हो गये। बस मे सवार 34 यात्री घायल हो गए।
17 सितंबर 2०15- राजधानी के निगोहां थानाक्षेत्र में स्मैक के नशे में धुत एक युवक की अज्ञात वाहन की चपेट में आकर दर्दनाक मौत हो गर्ई। वहीं, बंथरा इलाके में एक साइकिल सवार को बचाने के फेर में तेज रफ्तार कार खड़े ट्रक में जा घुसी। जिससे कार सवार और साईकिल सवार बुरी तरह जख्मी हो गए।
24 सितंबर 2०15- मोहनलालगंज के कोडरा रायपुर स्थित अध्यापकों को छोडक़र लौैट रही मारूति वैन ने उसी स्कूल में पढऩे जा रहे मासूम भाई-बहन को कुचल डाला। जिससे दोनों छिटक कर दूर जा गिरे और बहन ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। इसके अलावा बाजारखाला के ऐशबाग में दो बाइको की भिड़न्त में एक युवक की मौत हो गई।
1 अक्टूबर 2०15- चिनहट के मल्हौर इलाके में अज्ञात वाहन की टक्कर से एमआर की मौत हो गर्ई। वहीं पीजीआई में एक हाफ डाला की टक्कर से बाइक सवार युवक ने दम तोड़ दिया।
3 अक्टूबर 2०15- राजधानी के बंथरा इलाके में बेकाबू कार ने सडक़ किनारे खड़ी बच्ची को रौंद दिया। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।
9 अक्टूबर 2०15- काकोरी इलाके में मिट्टी से लदे डम्फर ने खेत में बकरियां चरा रही एक छात्रा को कुचल डाला था। जिससे मासूम की मौत हो गईं थी। ग्रामीणों ने विरोध प्रदर्शन करते हुए हंगामा किया। रास्ते से जा रही एक छात्रा को तेज रफ्तार वाहन ने कुचल डाला। उसकी मौके पर ही मौत हो गई।
14 अक्टूबर 2०15- सीतापुर के कमलापुर बाजार में ओवरटेक करने की होड में तेज रफ्तार इनोवा पिकप डाले से टकरा गई। दुर्घटना में इनोवा सवार सीबीसीआईडी में तैनात दरोगा की मौत हो गई और उनकी पत्नी गम्भीर रूप से घायल हो गई।
14 अक्टूबर 2०15- चिनहट इलाके में बीबीडी के सामने एक ट्रेलर की टक्कर से बाइक सवार बाप-बेटे की मौत हो गर्ई। हादसे के बाद आक्रोशित स्थानीय लोगों और छात्रों ने करीब चार वाहनों में तोडफ़ोड़ करते हुए आग के हवाले कर दिया था। जहां पर काफी बवाल हुआ। भारी तादाद में पहुंचे पुलिस ने बल ने हालात को काबू में पाया था।
15 अक्टूबर, 2०15- नगराम में दवा लेकर लौैट रही महिला को बाइक सवार ने रौंदा, उपचार के दौरान महिला ने दम तोड़ा। वहीं, पीजीआई में ट्रक की टक्कर से अपने चाचा के साथ बाइक से कानपुर जा रही किशोरी की दर्दनाक मौत हो गई।

यह हैं हादसे वाले स्पॉट, यहां पर चलें सावधानी पूर्वक
राजधानी में विभिन्न इलाको में हर दिन सडक़ हादसे हो रहे हैं। जिसमें मडिय़ांव के आईआईएम रोड, भिठौली तिराहा, बंथरा में मोहनलालगंज बाईपास, पीजीआई और चिनहट में शहीद पथ, कुर्सी रोड, मुंशी पुलिया, टेढ़ी पुलिया, इंजीनियरिंग कालेज चौराहा, गोमतीनगर के समतामूलक चौराहा, पालीटेक्निक चौराहा, कैंट, गोसाईगंज में सुल्तानपुर रोड निगोहां में रायबरेली रोड, दुबग्गा बाईपास, मलिहाबाद, काकोरी, मोहान रोड, ठाकुरगंज, समेत राजधानी में ऐसे दर्जनो स्पॉट हैं। जहां हादसे होते रहते है।

सडक़ पर वाहन चलाते समय बरतें यह सावधानियां
सडक़ पर वाहन चलाते समय यातायात नियमों का पालन करें, दुपहिया वाहन चलाते समय हेलमेट जरूर लगाएं, गाड़ी चलाते समय मोबाइल का इस्तेमाल न करें। चार पहिया वाहन चलाते समय सीट बेल्ट जरूर लगायें, चौराहों पर गाड़ी जेब्रा क्रासिंग से पहले रोकें, विपरीत दिशा में वाहन न चलायें, ग्रीन सिग्नल मिलने पर ही आगे बढ़ें, सडक़ पर चलते समय स्पीड 4० किलोमीटर प्रतिघंटा रखें। गलत ढंग से ओवरटेक न करें।

लोगों को जागरूक करने के लिए आए दिन अभियान चलाया जा रहा है। निजी संस्थान (एनजीओ) और एनसीसी कैडेट्स भी चौराहों पर लोगों को यातायात नियमों के बारे में जानकारी दे रहे हैं लेकिन फिर भी लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं। जरा सी लापरवाही की वजह से उनकी जान चली जाती है। नियमों को तोडऩे पर लोगों को कीमत अपनी जान देकर चुकानी पड़ती है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वाहन चलाते वक्त यातायात नियमों का पालन करें। दो पहिया वाहन स्वामी हेलमेट और कार सवार सीट बेल्ट जरूर लगायें।
-एएसपी यातायात  हबीबुल हसन

Pin It