निजी संस्थानों में रेडियोलॉजिस्ट की अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू

  • अस्पतालों में मरीजों का एक्सरे और खून की जांच का काम ठप

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Capture6लखनऊ। पीसी और पीएनडीटी अधिनियम के तहत कागजी त्रुटि हो जाने पर अपराधियों की तरह से रेडियोलाजिस्ट पर कठोर कार्रवाई किये जाने के विरोध में आज से इण्डियन रेडियोलॉजिस्ट इमेजिंग एसोसिएशन के सभी सदस्य अनिश्चित कालीन हड़ताल पर हैं। इसलिए निजी संस्थान में सभी रेडियोलाजिस्ट ने काम बंद कर दिया है। नतीजतन मरीजों का एक्सरे, खून की जांच और अल्ट्रा साउंड समेत अन्य सभी जांचें ठप हो गई हैं।
आईआरआईए के उत्तर प्रदेश कोआर्डिनेटर डॉ.पीके. श्रीवास्तव ने बताया कि देश भर में अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू हो चुकी है। इसी क्रम में लखनऊ में भी सभी निजी अस्पतालों और जांच केन्द्रों पर रेडियोलॉजिस्ट हड़ताल पर हैं। उन्होंने ने बताया कि पीवी और पीएनडीटी अधिनियम के कठोर प्रवधानों के बावजूद पूरे भारत में रेडियोलॉजिस्ट पीसी और पीएनडीटी एक्ट को पूरी तरह से मानते है। जिससे देश में लडक़ा और लडक़ी का लिंगानुपात बेहतर हो सके। इसके बावजूद मामूली लिपिकीय त्रुटि की वजह से पीसी और पीएनडीटी अधिनियम के तहत रेडियोलॉजिस्ट और जांच केन्द्र चलाने वालों को परेशान किया जाता है। देश भर में रेडियोलॉजिस्ट का उत्पीडऩ लगातार बढ़ता ही जा रहा है। इसलिए उनकी एसोसिएशन इण्डियन रेडियोलॉजिस्ट इमेजिंग एसोसिएशन ने भारत सरकार से अपील की है कि फार्म एफ में लिपिकीय त्रुटि , पीसी और पीएनडीटी एक्ट का नोटिस बोर्ड न होने तथा उसकी किताब न होने, एप्रिन न पहने को लिंग निर्धारण तथा अपराधिक आरोप के समकक्ष न माना जाये। उन्होंने बताया कि जब तक हमारी मांगे नहीं मानी जायेगी। तब तक हम हड़ताल पर रहेंगे। हालांकि लखनऊ में भी रेडियोलॉजिस्ट की हड़ताल अनिश्चितकालीन रहेगी, इस बात का निर्णय कल लिया जायेगा।

Pin It