नाटक के जरिये कलाकारों ने भ्रष्टाचार पर कसा तंज

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
captureलखनऊ। आज समाज के हर क्षेत्र में भ्रष्टाचार फैला है। कुछ लोगों के भ्रष्ट होने से पूरा सिस्टम बदनाम होता है। इसका शिकार सबसे ज्यादा आम आदमी होता है। इस व्यवस्था पर कलाकारों ने नाटक के जरिये तंज कसा। गुरुवार को कैसरबाग स्थित राय उमानाथ बलि प्रेक्षागृह में मंचित नाटक हम भ्रष्ट के भ्रष्ट, भ्रष्ट हमारे में कलाकारों ने हंसाने के साथ भ्रष्टाचार को रोकने की अपील की।
नाटक की कहानी में एक फाइनेंस कंपनी से शुरू होती है। कंपनी लोगों को लालच देकर पैसा जमा करती है। कंपनी का एमडी अपने दलाल के जरिए शहर के करोड़पतियों, नेताओं व अधिकारियों के कालेधन को सफेद करता है। अंत में विजलेंस टीम सभी को गिरफ्तार कर लेती है। नाटक का लेखन विनोद मिश्रा व निर्देशन अनुपम बिसारिया ने किया। शुभम, सतेंद्र, अनुपम आदि ने अभिनय किया।

Pin It