नहीं सुधर रहे डफरिन अस्पताल के कर्मचारी

  • समय से नहीं मिल रहा प्रसूताओं को जननी सुरक्षा योजना का लाभ 
  • बैंक खाता समेत सभी दस्तावेज मौजूद, प्रक्रिया निभाने के बजाय टरकाया

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ । डफरिन अस्पताल के कर्मचारियों ने ठान लिया है कि वे नहीं सुधरेंगे। उन्हें चाहे मंत्री फटकार लगाए या अस्पताल के आला अधिकारी। आलम यह है कि अस्पताल में मरीजों को कदम-कदम पर दुश्वारियां उठानी पड़ रही हैं। मरीज भर्ती है तो इलाज के दौरान चिकित्सकीय सुविधाओं के नाम पर यहां वसूली जहां आम है, वहीं अन्य सरकारी योजनाओं का लाभ देने में भी कोताही की जा रही है। आलम, यह है कि बैंक खाता समेत सभी आवश्यक दस्तावेज मौजूद होने के बावजूद प्रसूताओं को जननी सुरक्षा योजना का लाभ समय पर नहीं मिल रहा है।
डफरिन में कई प्रसूताओं ने आरोप लगाया कि उन्हें समय से जननी सुरक्षा योजना का लाभ नहीं मिल रहा है। हुसैनाबाद निवासी रजिया की भी जननी सुरक्षा संबंधी प्रक्रिया पूरी नहीं हुई। इस दौरान तीमारदार सुनीता, अनीसा समेत कई लोग परेशान दिखे। उन्होंने बताया कि अस्पताल में भर्ती से लेकर डिस्चार्ज तक तमाम मुश्किलें झेलनी पड़ती हैं। यहां कोई भी काम सिस्टम से नहीं होता है। जिसका जुगाड़ है या पैसा देता है उसका काम तुरंत कर दिया जाता है। अन्य मरीज व तीमारदार दर-दर भटकने को मजबूर हैं। वहीं अधिकारी सब जानते हुए भी खामोश रहते हैं। आसमां फातिमा को 13 अप्रैल को प्रसव पीड़ा होने पर भर्ती कराया गया। वहीं 18 अप्रैल को आसमां ने नवजात को जन्म दिया। गुरुवार को डिस्चार्ज होने पर जननी सुरक्षा का लाभ लेने के लिए तीमारदार कागज लेकर अस्पताल में चक्कर काटते रहे। वार्ड से लेकर बाबुओं के कार्यालय तक तीमारदारों ने कई फेरे लगाए। जवाब, मिला यह काम इतना आसान नहीं तुरंत हो जाए, इसमें वक्त लगेगा, किसी और दिन आना।

Pin It