नये साल में बुरी आदतों को गुडबॉय कहेगा यूथ

न्यू इयर सेलिब्रेशन के साथ ही नये संकल्प पूरा करने का भी आनंद उठा रहे हैं लोग
घर में समय बिताने, हेल्थ पर ध्यान देने और जंक फूड से दूर रहने की हो रही कोशिश

captureऐश्वर्या गुप्ता
लखनऊ। हर इंसान अपने जीवन में अच्छी आदतों को सीखने और बुरी आदतों को त्यागने की कोशिश करता है। यह सिलसिला ताउम्र चलता रहता है लेकिन नये साल पर हर बार लोग कुछ न कुछ त्यागने और कुछ नया करने का संकल्प लेते हैं। इनमें यूथ के अंदर संकल्प लेने और उनको पूरा करने का क्रेज सबसे अधिक देखने को मिल रहा है। हर कोई अपने संकल्पों के अनुसार डेली रूटीन तैयार करने में जुटा है। इस काम को काफी एनर्जी के साथ कर रहे हैं।
देश में कई अवसरों पर नये संकल्प लेने का ट्रेंड हमेशा से रहा है। पिछले कई सालों से लोग नये साल पर अलग-अलग तरह के संकल्प लेते आ रहे हैं। कुछ लोग डंके की चोट पर तो कुछ लोग अपने नजदीकियों की देखा देखी में, तो कोई मन ही मन नये संकल्प ले लेता है। इस नए ट्रेंड को निभाने के लिए लोग संकल्प तो ले लेते हैं लेकिन उस पर कायम रखने में हमेशा ही फेल हो जाते हैं। इस बार यूथ ने नए साल की शुरुआत अपनी सकारात्मक ऊर्जा को बेहतर करने और कुछ पुरानी इच्छाओं और संकल्पों को पूरा करने की शुरुआत से की है। इस संकल्प पर अगले 12 महीने, या 52 सप्ताह, या 365 दिनों में अनेकों तरह के अनुभव मिलेंगे। ऐसे ही संकल्पों से दो-चार होने वाले लोगों ने बड़ी ही बेबाकी के साथ अपनी बातें और अनुभव शेयर किए हैं।
जानकीपुरम निवासी मिनी श्रीवास्तव ने नये साल में अपना वजन कम करने का निर्णय लिया है। मिनी कहती हैं कि पहले मेरी हेल्थ काफी हद तक सही थी। लेकिन इस समय बिगड़ गई है।

अपने शेड्यूल को बनाऊंगा सामान्य
विकासनगर निवासी शिखर ने बताया कि नये साल पर उन्होंने अपने पिछले साल की घटनाओं और गतिविधियों का आंकलन किया। उन्होंने कहां-कहां गलतियां की, और उनसे क्या सीखा, क्या खोया और क्या पाया, इसकी पूरी लिस्ट तैयार की हैं। अब उसी लिस्ट के अनुसार नये साल में अच्छी आदतों के साथ बेहतर जिन्दगी जीने और अच्छी आदतों को अपनाने में जुट गये हैं।

अपनों के साथ बिताऊंगा कीमती समय
स्नातक के स्टूडेंट वैभव ने नये साल में अपनी आलमारी और कमरे को व्यवस्थित रखने का संकल्प लिया है। उनका कहना है कि मेरा कमरा गंदा होने की वजह से अक्सर घरवालों को परेशानी होती है। इसीलिए मैंने ये तय किया है कि अपने कमरे को साफ-सुथरा रखूंगा। इतना ही नहीं घर वालों के काम में ज्यादा से ज्यादा मदद करने की कोशिश करूंगा।

कम करने हैं खुद के खर्चे

प्राइवेट सेक्टर में जॉब करने वाली रुचि ने अपने खर्चों को नियंत्रित करने का निर्णय लिया है। रुचि के मुताबिक वह अपने कपड़ों और फुटवियर पर बहुत पैसे खर्च करती हैं। इस बात का एहसास अकाउंट खाली होने पर चलता है, इसलिए आने वाले समय में अपने खर्चों को नियंत्रित करने का काम करुंगी। इस पर काम भी शुरू कर दिया है।

जंक फूड से दूर रहने का संकल्प
गोमतीनगर निवासी शौर्य द्विवेदी ने जंक फूड से दूर रहने का संकल्प लिया है। उन्होंने कहा कि मुझे बाहर का खाना खाने की आदत सी लग चुकी है। लेकिन बाहरी खाने की वजह से मेरी तबीयत बार-बार खराब होती है। इसलिए नये साल में जंक फूड से दूर रहने का संकल्प लिया है। इसको कंट्रोल करने की पूरी कोशिश कर रहा हूं। अब घर से बाहर निकलने से पहले कुछ न कुछ नाश्ता करके ही निकलता हूं।
घर के काम में बटाऊंगा हाथ

Pin It