’नमामि गंगे अभियान में सहयोग नहीं कर रही प्रदेश सरकार‘

  • इलाहाबाद में प्रोजेक्ट की लांचिंग के दौरान नहीं पहुंचा प्रदेश सरकार का कोई प्रतिनिधि

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। केन्द्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने नमामि गंगे अभियान में प्रदेश सरकार पर राजनीति करने और सहयोग न करने का आरोप लगाया है। वह इलाहाबाद में नमामि गंगे अभियान की शुरूआत पर आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश सरकार के किसी भी मंत्री के न पहुंचने पर काफी नाराज थीं। इस कार्यक्रम में जिलाधिकारी की अनुपस्थित ने मामले को और अधिक संवेदनशील बना दिया।
गंगा की सफाई के लिए नमामि गंगे अभियान की शुरूआत गुरुवार को एक साथ सात राज्यों में की गई। यूपी में इस प्रोजेक्ट के तहत कानपुर, इलाहाबाद और वाराणसी आते हैं। इसके बावजूद इलाहाबाद में प्रोजेक्ट की लांचिंग के दौरान यूपी सरकार का कोई प्रतिनिधि शामिल नहीं हुआ। कार्यक्रम में नमामि गंगे प्रोजक्ट से जुड़ी स्वयंसेवी संस्थाओं के लोग भी कम ही दिखे। इससे केन्द्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति काफी नाराज हुईं। उन्होंने कहा कि देश की आस्था और स्वास्थ्य से जुड़े इतने महत्वपूर्ण कार्यक्रम में प्रदेश सरकार के किसी प्रतिनिधि का शामिल न होना शर्मनाक है। इस कार्यक्रम में डीएम तक अनुपस्थित हैं। ऐसा लग रहा है कि यूपी सरकार चुनाव नजदीक होने की वजह से साजिश कर रही है। उसी के इशारे से कार्यक्रम की शुरुआत पूर्व निर्धारित स्थल की बजाय शहर के एक गेस्ट हाउस में करना पड़ रहा है। दरअसल पहले नमामि गंगे अभियान का लांचिंग कार्यक्रम संगम के किनारे होना था। लेकिन अचानक जगह बदल दी गई। लांचिंग कार्यक्रम शहर के एक गेस्ट हाउस में किया गया। इस बात की भी चर्चा थी कि जिला प्रशासन ने संगम किनारे कार्यक्रम करने की अनुमति नहीं दी। इसलिए ऐसा किया गया लेकिन मामला संवेदनशील होने की वजह से पुलिस और प्रशासन का कोई भी अधिकारी कुछ बोलने को तैयार नहीं है। इस कार्यक्रम में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या और बीजेपी सांसद श्यामाचरण गुप्ता समेत कई अन्य गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित रहे।

Pin It