नजीब जंग जी सरकार चलाने दें केजरीवाल को

मोदी जी और उनकी टीम को इससे सबक लेना चाहिए था और कोशिश करनी चाहिए थी कि वो कुछ ऐसा करे जिससे दिल्ली की जनता उनका उतना ही सम्मान करे जैसे वो केजरीवाल का करती है। पर ऐसा न करके मोदी जी और उनकी टीम केजरीवाल को ही घेरने की तैयारी में जुट गई। नजीब जंग इसका हिस्सा बन गए।

sanjay sharma editor5दिल्ली में केजरीवाल सरकार के साथ बीजेपी जो कर रही है उससे उसकी खुद की ही फजीहत हो रही है। प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में आई सरकार ने बीजेपी को बहुत दर्द दिया है यह सब जानते है। मगर बीजेपी उसका बदला अगर इस तरह लेगी तो उससे फजीहत बीजेपी की ही होगी। दिल्ली के उप राज्यपाल किसके इशारे पर यह सब कर रहे हैं यह हर कोई जान गया है। ऐसे में नजीब जंग अपनी पोजीशन तो खराब कर ही रहे हैं मगर जिनके इशारे पर वो यह सब कर रहे हैं उनकी पोजीशन भी कम खऱाब नहीं हो रही। अच्छा हो अगर बीजेपी हकीकत समझे और अरविन्द केजरीवाल से अपनी निजी दुश्मनी इस तरह ना निकाले वरना नुकसान उसी का होगा। आखिर जनता के मत की इज्जत भी तो करना चाहिए।

इसमें कोई दो राय नहीं है कि अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सबसे ज्यादा दर्द दिया है। सरकार बनने के बाद मोदी की सत्ता को किसी ने इस तरह चुनौती नहीं दी। दिल्ली का चुनाव मोदी जी की नाक का सवाल बन गया था। मोदी जी और उनकी टीम के दर्जनो मंत्री और सैकड़ों सांसदों ने इस चुनाव में दिन-रात एक कर दिया। मगर दिल्ली की जनता ने जिस तरह केजरीवाल के पक्ष में फैसला दिया उसने प्रधानमंत्री को पसीने पसीने कर दिया।

होना यह चाहिए था कि मोदी जी और उनकी टीम को इससे सबक लेना चाहिए था और कोशिश करनी चाहिए थी कि वो कुछ ऐसा करें जिससे दिल्ली की जनता उनका उतना ही सम्मान करे जैसे वो केजरीवाल का करती है। पर ऐसा न करके मोदी जी और उनकी टीम केजरीवाल को ही घेरने की तैयारी में जुट गई। नजीब जंग इसका हिस्सा बन गए। अब यह बात कौन स्वीकार करेगा कि जिस सरकार को दिल्ली के लोगों ने इतना प्रचंड बहुमत दिया है उसे इतना भी हक़ ना हो कि वो अपनी मर्जी से अपना मुख्य सचिव चुन सके। जाहिर है ऐसा करके लोगो की भावनाओ के साथ खिलबाड़ किया जा रहा है जो बीजेपी के लिए ही घातक होगा।

अच्छा होता कि भाजपा नजीब जंग के जरिये कोई खेल नहीं खेलती बल्कि केजरीवाल को मौका देती कि वह जनभावनाओं के मद्ïदेनजर अपने चुनावी वायदे पूरे करें। अगर वह ऐसा नहीं कर पाते तो खुद उनके लिये परेशानियां खड़ी हो जातीं। भाजपा ने नजीब जंग का सहारा लेकर जो खेल शुरू किया है वह खतरनाक है और इसका नुकसान भाजपा को ही उठाना पड़ेगा।

Pin It