नगर निगम के कूलर बने डेंगू मच्छरों की नर्सरी

  • नगर निगम में लगे दर्जनों कूलरों में पनप रहे डेंगू के लार्वा
  • जिम्मेदार अधिकारी बेखबर

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
6लखनऊ। राजधानी की जनता के बीच डेंगू को लेकर जागरूकता अभियान चलाने वाला नगर निगम खुद ही जागरूक नहीं है। खाली बर्तन और कूलरों में पानी भरे होने की स्थिति में चालान काटने वाला नगर निगम खुद ही मच्छरों को पैदा करने में अहम भूमिका निभा रहा है। विभाग द्वारा बांटे जा रहे पर्चों पर लिखे स्लोगन और जानकारी बच्चे-बच्चे की जुबान पर हैं। लेकिन नगर निगम के नाकारा अधिकारी इससे बेखबर है। यही कारण है कि लालबाग स्थित नगर निगम मुख्यालय में लगे कई दर्जन कूलरों में डेंगू का लारवा पनपने की स्थिति बनी हुई है। सभी कूलरों में पानी भरा हुआ है हालात यह हैं कि न तो कूलरों की सफाई होती है और न ही इनमें पानी बदला जाता है। ऐसे में मच्छर पैदा होने की संभावना बढ़ी हुई हैं और जिम्मेदार अधिकारी इससे बेखबर हैं।
नगर आयुक्त उदयराज सिंह का कहना है कि उनके द्वारा समय-समय पर सफाई और पानी बदलवाने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये जाते हैं। इसके बावजूद भी अगर लापरवाही हो रही है, तो कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। नगर निगम के कर्मचारियों का कहना है कि पूर्व में नगर निगम में मच्छरों से निपटने के लिए कार्यालय में छिडक़ाव कराया जाता था लेकिन अब यह व्यवस्था बन्द हो गयी है। कर्मचारियों को लेकर निगम प्रशासन लापरवाह बना हुआ है। ऐसे में यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि जब डेंगू से निपटने वाला विभाग ही जागरूक नहीं है। तो जनता से जागरूकता की उम्मीद कैसे लगायी जा सकती है।

Pin It