दोबारा होगी एमबीबीएस तथा बीडीएस की काउंसिलिंग

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के पीजीआई में चल रही काउंसिलिंग को न्यायालय के निर्देश के बाद निरस्त कर दिया गया है। यूपी नीट की काउंसिलिंग अब दोबारा 21 सितंबर से संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान (एसजीपीजीआई) समेत प्रदेश के चार सेंटरों पर आयोजित की जाएगी। इस बार यह काउंसिलिंग तीन दिनों तक चलेगी। इसमें वह अभ्यर्थी भी भाग ले सकेंगे, जिन्होंने प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में काउंसिलिंग कराया था। इस काउंसिलिंग के बाद अब सभी छात्रों को इसका फायदा मिलेगा।
गौरतलब है कि हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने 15 सिंतबर को अपने फैसले में कहा था कि निजी मेडिकल कॉलेज खुद अपनी काउंसिलिंग नहीं कर सकेंगे। राज्य सरकार से काउंसिलिंग का फैसला एकदम सही है। हाईकोर्ट ने आदेश दिया है कि अल्पसंख्यक कॉलेज केवल 50 प्रतिशत ही काउंसिलिंग कर सकेंगे। इसके अलावा निजी मेडिकल कॉलेजों में 36000 फीस देने वाले छात्रों को गरीबी रेखा से नीचे का प्रमाणपत्र देना आवश्यक होगा। प्रदेश के सरकारी व निजी मेडिकल व डेंटल कालेजों में प्रवेश के लिए इस बार नीट टेस्ट का आयोजन हुआ था। प्रदेश सरकार ने निजी कालेजों की काउंसिलिंग भी साथ-साथ कराने का फैसला लिया था,लेकिन शुल्क को लेकर मामला फंसा था। इस पर सरकार ने काउंसिलिंग शुरू होने से एक दिन पहले निजी मेडिकल व डेंटल कालेजों की आधी सीटें नीट काउंसिलिंग के माध्यम से सरकारी फीस पर भरने का फैसला लिया था।

Pin It