देवपुर पारा योजना के निवेशक लगा रहे एलडीए के चक्कर

  • तीन माह बाद भी निवेशकों का पैसा नहीं हुआ रिफंड

 Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। एलडीए की सुस्त चाल के कारण निवेशकों का पैसा लंबे समय से फंसा है। इस वजह से निवेशकों को बार-बार एलडीए के चक्कर काटने पड़ रहे हैं। उधर एलडीए के खाते में पैसा तो है लेकिन यह पैसा उन निवेशकों को नहीं मिल रहा है, जिन्होंने सवा साल पहले देवपुर पारा की समाजवादी लोहिया में फ्लैट के लिए आवेदन किया था। इस फ्लैटों की लॉटरी मार्च में हो चुकी है, लेकिन पैसा तीन माह बाद भी रिफंड होना शुरू नहीं हुआ है।
एलडीए ने देवपुर पारा योजना में फ्लैटों की लाटरी मार्च से जून माह के बीच करवाई। इसमें हजारों फ्लैटों की लॉटरी करवाई गई। लॉटरी करवाने वालों में सैकड़ों लोग ऐसे हैं, जिनके फ्लैट नहीं निकले, अब उन्हें अपना रिफंड मनी पाने के लिए चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। देवपुर पारा योजना में फ्लैट के लिए आवेदन करने वाले बीपी मिश्र ने बताया कि उन्होंने भी लॉटली में हिस्सा लिया था लेकिन फ्लैट नहीं निकला। इस बात की उम्मीद थी कि योजना में बुकिंग कराने से पहले किए गए वादे के तहत एलडीए जमा करवाया गया पैसा रिफंड कर देगी। लेकिन ऐसा अब तक नहीं हो पाया है। फ्लैट की बुकिंग के लिए जमा किए गए करीब 25 हजार रुपये आज तक फंसे हुए हैं। बीपी मिश्र ने कई बार वित्त नियंत्रक से बात की और हर बार उन्हें आश्वासन भी मिला, लेकिन बैंक के कर्मचारियों ने हर बार खाते में पैसा न होने की बात कहकर चलता कर दिया। इसके बाद 10 जून को 41 योजनाओं के 3,542 फ्लैटों की लॉटरी निकाली गई। इसमें से 22 स्कीम के लिए एक भी आवेदन नहीं आए। लखनऊ विकास प्राधिकरण की टीम ने एकजुट होकर 10 जून को इसकी लाटरी भी निकाल दी, लेकिन ऐसे निवेशकों का पैसा वापस करने का काम अब तक लटका हुआ है। बिल्कुल इसी तरह का हाल 18 जून को आवासों के लिए डाली गई लाटरी का रहा है।

 

Pin It