दूसरे दिन भी अस्पतालों में मरीज हलकान

  • अस्पतालों में सुबह तीन घंटे कर्मचारियों ने बंद रखा काम

14पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। केन्द्रीय कर्मचारियों की भांति मकान किराया भत्ता, कैशलेस इलाज, नियमित भर्ती समेत अन्य मांगों को लेकर आन्दोलन कर रहे राज्य कर्मचारी हड़ताल पर हैं। इस हड़ताल में शामिल अस्पतालों के कर्मचारी व नर्सों ने आज भी तीन घंटे तक काम बंद कर मरीजों की मुश्किलें बढ़ा दीं हैं। अस्पतालों के कर्मचारियों तथा नर्सो की तीन घंटे की हड़ताल पूरे दिन की हड़ताल साबित हो रही है। वहीं अस्पताल प्रशासन इसको रोक पाने में नाकाम साबित हो रहा है।
डॉ. राम मनोहर लोहिया संयुक्त चिकित्सालय में हड़ताल के दूसरे दिन भी कर्मचारियों व नर्सों ने काम बंद रखा। जिन काउंटरों तथा वार्ड में काम हो रहा था, वहां पर भी अस्पताल के कर्मचारियों ने घूम-घूम कर काम बंद करा दिया। यहां हो रही हड़ताल का असर इमरजेन्सी सेवाओं पर भी पड़ा। जबकि आन्दोलनरत कर्मचारी इमरजेन्सी सेवाओं को बिल्कुल भी रोकने के पक्ष में नहीं हैं। इसके बावजूद कुछ लापरवाह चिकित्सक और स्टाफ के अन्य लोग अपनी कामचोरी से बाज नहीं आ रहे। सुबह 8 बजे से चलने वाली इस हड़ताल में पर्चा काउन्टर से लेकर दवा काउन्टर तथा पैथालॉजी काउन्टर तक मरीजों की लंबी कतारें लग गईं। इस भीड़ ने लोहिया अस्पताल प्रशासन के संविदा कर्मचारियों द्वारा कराये जा रहे कार्यों की पोल खोल के रख दी। जबकि यहां की नर्सों का दावा था कि हम हड़ताल में शामिल नहीं हैं। इस बात का नर्सेज एसोसिएशन के अध्यक्ष ने खंडन किया है।

राजधानी के तीन बड़े अस्पतालों बलरामपुर, सिविल तथा लोहिया में दो दिन से खून की जांच नहीं हो पा रही है। खून की जांच के लिए मरीज निजी पैथालॉजी का रुख करने पर मजबूर हैं, लेकिन इनकी समस्या सुनने वाला कोई नहीं है। अकेले लोहिया अस्पताल में कल खून की जांच न हो पाने के चलते 35 से ज्यादा मरीजों को वापस लौटना पड़ा। आज भी कुछ इसी तरह के हालात दिखाई पड़े। मरीज काउन्टरों के बंद होने के चलते मायूस होकर वापस लौट गये। मरीजों को लौटता देख अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एमएल.भार्गव ने खुद कमान संभाली और पैथालॉजी काउन्टर को संविदाकर्मियों की मदद से शुरू कराया। उसके बाद बचे हुए मरीजों की जांच शुरू हो पायी। वहीं बलरामपुर अस्पताल में खून की जांच पूरी तरह से बंद रही। यहां के दवा काउन्टर 11 बजे के बाद खोले गये। तब जाकर मरीजों को दवाएं मिल पाईं।

Pin It