दुबई में भी नौकरी दिलाएगी अखिलेश सरकार

  • एनआरआई विभाग और कौशल विकास मिशन ने की सराहनीय पहल
  • दुबई में नौकरी की तलाश में जा रहे बेरोजगारों को नौकरी दिलाएगी यूपी सरकार

संजय शर्मा
aaaa1लखनऊ। सीएम अखिलेश यादव ने दुबई में नौकरी की तलाश कर रहे हजारों युवकों की राह आसान कर दी है। यूपी का एनआरआई विभाग अब रिक्रूट्मेंंट एजेंसी का काम करेगा। भारत सरकार ने भी इसे लाइसेंस दे दिया है। कौशल विकास मिशन नौजवानों को स्किल्ड करेगा और एनआरआई विभाग दुबई में नियोक्ताओं से संपर्क साधकर उन्हें नौकरी दिलवायेगा।
सीएम की पहल पर कौशल विकास मंत्री अभिषेक मिश्रा, प्रमुख सचिव एनआरआई संजीव सरन, कौशल विकास मिशन के सचिव भुवनेश कुमार और निदेशक कौशल विकास सुरेन्द्र सिंह, विशेष सचिव कंचन वर्मा ने पिछले दिनों दुबई जाकर इंटैक्स से संपर्क साधा। भारतीय दूतावास में अपना प्रस्तुतिकरण दिया और वहां के बड़े व्यपारियों से कहा कि वह बताएं कि उन्हें किस प्रकार के कुशल युवकों की जरूरत है। वह उन्हें हर ट्रेंड के कुशल लोग उपलब्ध कराएंगे।
दरअसल यूपी के हजारों
नौजवान रोजगार की तलाश में दुबई जाते हैं। वहां उन्हें बढिय़ा नौकरी का प्रलोभन दिखाकर उनके साथ कई बार धोखाधड़ी भी कर ली जाती है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस संबंध में कौशल विकास मंत्री अभिषेक मिश्रा से कहा कि वह अधिकारियों के साथ दुबई जाएं और वहां के बड़े उद्योगपतियों से संपर्क करके उन्हें बताएं कि यूपी में सबसे ज्यादा कुशल कारीगर हैं। अगर वह सीधे यूपी सरकार को बताएं कि उन्हें किस ट्रेड में किस प्रकार के कारीगर चाहिए तो वह उन्हें उपलब्ध करा देंगे।
इसके बाद इस प्रतिनिधि मंडल ने दुबई का दौरा किया। दुबई में एक बड़े व्यापारी सम्मेलन को संबोंधित करते हुए कौशल विकास मंत्री अभिषेक मिश्रा ने कहा कि यह गौरव की बात है कि दुनिया की दो सबसे बड़ी खूबसूरत बिल्डिंग ताज और बुर्ज खलीफा जिन लोगों ने बनाई है। उनसे से अधिकांश हिन्दुस्तान के हैं। उन्होंने विशेषकर निर्माण, हेल्थ, रिटेल और सेवा संस्थान से जुड़े लोगों से कहा कि यूपी में 48 लाख से ज्यादा प्रशिक्षित लोग कौशल विकास मिशन में अपना पंजीकरण करा चुके हैं। जाहिर है उन्हें जिस क्षेत्र के कुशल कारीगर की जरूरत पड़ेगी वह उन्हें उपलब्ध करा दिया जाएगा।
यूपी सरकार की कोशिश है कि इस वर्ष दो हजार से ज्यादा कुशल लोगों को दुबई में रोजगार दिलाया जाए। जाहिर है अगर ऐसा हो गया तो यह सरकार की यह बड़ी उपलब्धि रहेगी।

 

जनता को भविष्य दिखा गए प्रभु

  • रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने 2016-17 के रेल बजट में लोगों को दिखाए सपने
  • प्रभु ने बच्चों के बेबी फूड से लेकर बुजुर्गों को व्हीलचेयर सुविधा देने की बात कही
  • हर कोच में लगेंगे जीपीएस सिस्टम
    दिव्यांगों के लिए होगी अलग ट्यलेट की सुविधा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

नई दिल्ली। रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने आज संसद में 2016-17 के लिए रेल बजट पेश किया। रेल मंत्री ने बजट पेश करने से पहले कहा कि उन्हें उम्मीद है कि बजट से सभी को खुशी होगी। रेल मंत्री का इस बजट में पूरा जोर सुविधाओं की बहाली पर रहा। इस बजट में रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने साल 2020 तक हर यात्री को कंफर्म टिकट मिलने की बात कही। इस रेल बजट में बंदरगाहों तक रेल लाइन ले जाने को प्राथमिकता दी जाएगी। पूर्वोतर को रेल से जोडऩा भी रेल मंत्री की प्राथमिकता में शुमार रहा।
ट्रेनों में बायो टॉयलेट, ऑनलाइन भर्तियों की शुरुआत करने की बात कही। अगरतला और मणिपुर को रेल लाइनों से जोड़ा जाएगा। दूरदराज के इलाकों को मुख्यधारा से जोडऩे की भी योजना है। इस साल 1600 किलोमीटर और अगले साल 2000 किलोमीटर रेलवे लाइन का विद्युतीकरण किया जाएगा। महिलाओं और वरिष्ठ नागरिकों के लिए लोअर बर्थ में कोटा बढ़ाएंगे। इस साल 100 स्टेशन और अगले साल तक 400 स्टेशन पर वाई-फाई की सुविधा होगी। इसके अलावा 311 स्टेशन पर सीसीटीवी सर्विलांस सुविधा होगी। पिछले साल की तुलना में इस साल रेल ढांचे में निवेश दोगुना हुआ है। पिछले साल के रेल बजट से 8720 करोड़ रुपए बचाए गए। महामना एक्सप्रेस के नाम से नई ट्रेन शुरू होगी। सामान्य डिब्बों में भी चार्जिंग की सुविधा दी जाएगी। पैसेंजर्स की डिमांड पर तुरंत साफ होंगी बोगियां। स्वच्छ रेल की ओर रेलवे पूरी तरह से काम कर रहा है। प्रभु ने कहा कि इस साल 20 फीसदी कम एक्सीडेंट हुए। लेकिन हम इस हालत को और सुधारने की कोशिश कर रहे हैं। इसके लिए जापान और साउथ कोरिया से मदद ली जा रही है। 44 प्रोजेक्ट पर काम होगा। 5300 किलोमीटर नई लाइन तैयार की जाएगी।
नये ट्रेनो में हमसफर एसी कोच होगा। तेजस और उदय में भी स्पेशल फेसेलिटी होंगी।

  • 400 और स्टेशनों पर वाई-फाई की सर्विस बढ़ेगी
    यात्रियों की शिकायत के लिए नई फोन लाइन (182)
    311 स्टेशनों पर सीसीटीवी सिक्युरिटी की व्यवस्था
  •  400 स्टेशनों को निजी भागीदारी से डेवलप किया जाएगा।
     सभी पदों के ऑनलाइन भर्ती
    6 राज्यों के साथ एमओयू साइन किए गए हैं। रेलवे इनके साथ ज्वाइंट वेंचर लगाएगी।
     इस साल अंत्योदय एक् सप्रेस चलाई जाएगी। नए जनरल कोच लगाए जाएंगे।
     17 हजार बायो टॉयलेट इस साल के अंत में लगेंगे। पहला बायो वैक्यूम टॉयलेट डिब्रूगढ़ राजधानी में लगेगा।
     पैसेंजर ट्रेन की रफ्तार बढ़ाई जाएगी। महिलाओं की सुरक्षा पर खास ध्यान दिया जाएगा। 65 हजार बर्थ नई तैयार की हैं। इनका नॉन एसी कम्पार्टमेंट में यूज किया जाएगा।
    नई लोकोमोटिव फैक्ट्री लगाने के लिए 40 हजार करोड़ रुपए का बजट
     हबीबगंज के अलावा चार और स्टेशनों को री-डेवलप किया जाएगा।
     सोशल मीडिया का इस्तेमाल रोजाना के काम में ट्रांसपेरेंसी लाने के लिए किया जाएगा
     जोनल रेलवे से कई कॉन्ट्रेक्ट किए हैं ताकि टारगेट्स को पूरा किया जा सके।

 

Pin It