दिल्ली में बैठकर तैयार हुई यूपी चुनाव जीतने की रणनीति

  • प्रदेश भर में 21 अगस्त से नया कार्यक्रम शुरू करने की तैयारी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। दिल्ली में आज सुबह अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी मुख्यालय पर आयोजित बैठक के दौरान यूपी में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव की ठोस रणनीति तैयार की गई। इसमें प्रदेश भर में 21 अगस्त से यात्राओं और रैलियों के अलावा अन्य कई प्रकार के नये कार्यक्रम शुरू करने की योजना बनाई गई है। पार्टी का मकसद उत्तर प्रदेश में लॉ एंड आर्डर के बहाने पिछले 27 सालों में शासन करने वाले राजनीतिक दलों को घेरना और उनकी कमियों को गिनाकर कांग्रेस के शासनकाल की उपलब्धियों का बखान करना है।
उत्तर प्रदेश प्रभारी गुलाम नबी आजाद ने बताया कि प्रदेश में 27 साल यूपी बेहाल का नारा बहुत ही सोच समझ कर दिया गया है। इस नारे के माध्यम से हम जनता को बतायेंगे कि किस तरह 27 साल तक यूपी में राज करने वाली पार्टियों ने लोगों को बांटने, सामाजिक सौहार्द बिगाडऩे और भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने का काम किया है। प्रदेश में कानून व्यवस्था पटरी से बिल्कुल उतर चुकी है। अपराधी बेखौफ हैं, महिलाओं के खिलाफ होने वाले दुस्साहसिक अपराधों की संख्या लगातार बढ़ रही हैं। आम जनता खुद को असुरक्षित महसूस कर रही है। इन सबके बावजूद सत्ता के शीर्ष पर बैठे लोग आंकड़ों की बाजीगरी का खेल दिखाकर लोगों को ध्यान भटकाने का काम करते हैं। जबकि कांग्रेस पार्टी ने हमेशा लोगों को साथ लेकर और समाज को जोडक़र विकास करने का प्रयास किया है। हम अपने उसी फार्मूले को यूपी में भी अपनायेंगे। आने वाले चुनाव में कांग्रेस पार्टी समाज के सभी वर्गों के लोगों को जोडक़र सरकार बनायेगी। इसके लिए प्रदेश में अनेकों यात्राएं, रैलियां और जागरूकता कार्यक्रम चलाये जायेंगे। उन्होंने बताया कि पार्टी कार्यकर्ता बूथ स्तर पर लोगों को पार्टी के जोडऩे और पार्टी को मजबूत करने के काम में पूरी तरह से जुट गये हैं। उसका असर भी दिख रहा है। लखनऊ में राहुल गांधी की रैली हो या बनारस में सोनिया गांधी की रैली, दोनों जगहों पर जुटी समर्थकों की भीड़ देखकर कांग्रेस की लोकप्रियता का अंदाजा लगाया जा सकता है। जनता बदलाव चाहती है। इसलिए आने वाले चुनाव में कांग्रेस यूपी में जबरदस्त वापसी करेगी। इस बैठक में सोनिया और राहुल गांधी के अलावा प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर, सीएम कैंडिडेट शीला दीक्षित समेत अन्य प्रमुख पदाधिकारी भी उपस्थित रहे।

Pin It