दिमागी बुखार से दो बच्चों की मौत

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ । राजधानी में डेंगू और दिमागी बुखार से मरने वालों का सिलसिला जारी है। केजीएमयू के बाल रोग विभाग में दिमागी बुखार से पीडि़त दो बच्चों की मौत हो गई। उधर, बलरामपुर अस्पताल में बुखार फैजाबाद निवासी 46 वर्षीय लालजी गुप्ता की मौत हो गई।बाल रोग विभाग में बाराबंकी निवासी मोहम्मद अनस (4) बीते चार दिन से भर्ती था। दिमागी बुखार से पीडि़त अनस की मंगलवार को मौत हो गई। इसके अलावा वहीं भर्ती रकाबगंज निवासी शिखा (साढ़े तीन साल) की भी मौत हो गई। बच्ची दिमागी बुखार से पीडि़त थी। इसके अलावा बलरामपुर अस्पताल में भर्ती लालजी गुप्ता (46) की भी बुखार के कारण मौत हो गई। रायबरेली निवासी एक ही परिवार के सारिका (21) और शिव प्रसाद (25) बुखार से पीडि़त हैं। डेंगू की आशंका के चलते उनका कार्ड टेस्ट कराया गया जो पॉजिटिव आया। डॉक्टरों ने नमूने एलाइजा टेस्ट के लिए भेजे हैं।

लॄगग लाइसेंस के आधार पर होगा बैट्री रिक्शा का पंजीयन

लखनऊ। परिवहन विभाग ने आदेश दिया कि जिन चालक के पास लर्निंग लाइसेंस होगा उनके बैट्री रिक्शा का पंजीयन किया जाएगा। पिछले एक महीने से ज्यादा समय से जिन लोगों को बैट्री रिक्शा मिला है वह स्थायी लाइसेंस की वजह से चला नहीं पा रहे थे। इसको लेकर काफी समय से बवाल चल रहा था। संभागीय परिवहन अधिकारी सगीर अहमद ने बताया कि लर्निग लाइसेंस पर बैट्री का रिक्शा का पंजीयन करने की कोई बाध्यता नहीं है। स्थायी लाइसेंस होने पर ही चालक को परमिट मिलेगा। इस कारण से लोगों की सुविधा के लिए यह व्यवस्था लागू कर दी गई है। इसके आदेश जारी कर दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि बैट्री चालित रिक्शा के लिए रूट व परमिट का निर्धारण जल्द कर दिया जाएगा। इसका प्रस्ताव नौ अक्टूबर को होने वाली संभागीय परिवहन प्राधिकरण की बैठक में रखा जाएगा।

Pin It