दयाशंकर की पत्नी बोलीं-महिला सम्मान की लड़ाई लडऩे वाले बसपाइयों ‘कहां पेश करूं अपनी बेटी’

  • स्वाति सिंह ने मायावती और सतीश मिश्रा पर साधा निशाना, कहा उनके इशारे पर बेटी को बनाया गया निशाना

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Capture Capture1लखनऊ। भाजपा के पूर्व नेता दयाशंकर सिंह की मायावती पर विवादित टिप्पणी के विरोध में लखनऊ के हजरतगंज चौराहे पर हुए प्रदर्शन में बसपाइयों ने दयाशंकर के पूरे परिवार पर हमला बोला। पत्नी-बेटी पेश करो नारे लगाए। टीवी पर नारे सुनकर जहां दयाशंकर की स्कूल में पढऩे वाली बेटी सदमे में चली गई। वहीं दयाशंकर की पत्नी स्वाति सिंह ने मायावती और सतीश मिश्रा के इशारे पर लखनऊ में उपद्रव कराने का आरोप लगाते हुए करारा निशाना साधा है। स्वाति सिंह ने कहा है कि मायावती और सतीश चंद्र मिश्रा बताएं कि मैं कहां अपनी बेटी को पेश करूं। आखिर उनके इशारे पर ही तो बसपाइयों ने चौराहे पर नारे लगाए। दोनों नेता बताएं कि महिला सम्मान की रक्षा के लिए हमारी बेटी के साथ क्या सलूक करेंगे। हम तैयार हैं। स्वाति ने कहा कि पति ने जो कहा गलत कहा, मगर उनके कुसूर की सजा किसी की बेटी पर अभद्र टिप्पणी कर देना क्या महिला सम्मान की लड़ाई है। एक महिला के सम्मान के लिए एक दूसरी महिला की इज्जत रौंद दी जानी चाहिए क्या? अगर यह महिला सम्मान की लड़ाई है तो लानत है ऐसी लड़ाई पर।

मायावती से स्वाति सिंह के कुछ सवाल

मायावती खुद एक महिला हैं। पति ने उन पर गलत शब्दों का इस्तेमाल किया तो कानून उनके खिलाफ कार्रवाई करेगा। उनकी बेटी को लेकर जो अभद्र टिप्पणियां हजरतगंज चौराहे पर की गईं, उसका जवाब कौन देगा। स्वाति ने कहा कि गलत शब्द तो उनके पति ने बोला था न कि मेरी बेटी ने। तो फिर चौराहे पर बड़े नेताओं के इशारे पर बसपाई नारे लगा रहे-‘दयाशंकर की बेटी को पेश करो’यह क्या है। महिला सम्मान की लड़ाई लडऩे वालीं मायावती, सतीश मिश्रा और बाकी नेता बताएं कि अपनी बेटी को कहां पेश करूं। क्या सलूक करना चाहते हैं। भला सोचिए, मायावती को जिस टिप्पणी पर तीखा एतराज है। जिसे महिला विरोधी बताती हैं और संसद में उसी टिप्पणी को कह रहीं हैं कि दयाशंकर अपनी बहू-बेटियों के लिए बोला होगा। तो यह है मायावती की नजर में महिला सम्मान।

बेटी सदमे में, घर से बाहर निकलने को तैयार नहीं

दयाशंकर की पत्नी स्वाति सिंह ने कहा कि लखनऊ में बसपाईयों ने जिस तरह से शर्मनाक नारे लगाए। उससे स्कूल में पढऩे वाली बेटी सदमे में है। वह दवा खाकर बार-बार सो रही है। कह रही है कि वह अब स्कूल नहीं जाएगी। आखिर बसपाई यह कैसी महिला हितों की लड़ाई लड़ रहे।

नारों के खिलाफ अदालत तक जाने की तैयारी
स्वाति सिंह ने कहा कि लखनऊ में हजरतगंज चौराहे पर बेटी को लेकर लगाए गए अभद्र नारे से उनका मानसिक उत्पीडऩ हुआ है। यह पूरा प्रदर्शन मायावती और सतीश मिश्रा के इशारे पर बसपाईयों ने किया है। पति के खिलाफ मायावती पर गलत कमेंट कहने पर जो कानूनी कार्रवाई होगी वह उन्हें मंजूर है। मगर हजरतगंज चौराहे पर बेटी को लेकर जो अपशब्द बोले गए हैं, उसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने स्वाति सिंह हजरतगंज थाने पहुंच गई हैं। उन्होंने तहरीर भी दी है। वह अदालत की शरण लेने का फैसला कर चुकी हैं।

अभद्र टिप्पणी का एहसास दिलाने के लिए मेरे कार्यकर्ताओं ने लगाये नारे: मायावती

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपने एक बयान में कहा है कि मेरे कार्यकर्ताओं ने जो भी किया वह दयाशंकर को अभद्र टिप्पणी का एहसास दिलाने के लिए किया। इससे पहले मायावती ने कहा था कि अभी तो मैंने लोगों से सडक़ पर उतरने के लिए कहा भी नहीं है। सिर्फ मेरे सम्मान में और मुझ पर की गई अभद्र टिप्पणी के विरोध में मेरे कार्यकर्ताओं ने गुस्सा दिखाया है। बसपा नेत्री ने कहा कि भाजपा ने दयाशंकर के खिलाफ एक्शन तो लिया लेकिन मुझे उम्मीद थी कि पार्टी अपने उपाध्यक्ष के खिलफ एफआईआर दर्ज कराएगी लेकिन ऐसा नहीं किया गया है। उन्होंने ये भी कहा कि, यदि वो खुद एफआईआर करते तो मेरा दिल जीत सकते थे, पार्टी से निकाल देना एक सामान्य प्रक्रिया है।

Pin It