तो ऐसे लड़ी जा रही है कोरोना से जंग, गंदगी और जलभराव से जूझ रहे तेलीबाग के बाशिंदे

तो ऐसे लड़ी जा रही है कोरोना से जंग, गंदगी और जलभराव से जूझ रहे तेलीबाग के बाशिंदे

  • शिकायत के बावजूद हाथ पर हाथ धरे बैठे नगर निगम के अधिकारी
  • कोरोना संक्रमण के साथ संक्रामक रोगों का भी खतरा बढ़ा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में एक ओर कोरोना का संक्रमण तेजी से फैलता जा रहा है वहीं दूसरी ओर तमाम कॉलोनियों में जलभराव से लेकर गंदगी का अंबार लगा हुआ है। तेलीबाग के निवासी जलभराव और गंदगी से परेशान हैं। जलभराव के कारण यहां संक्रामक रोगों का भी खतरा बढ़ गया है। यही नहीं यहां सेनेटाइजेशन और फॉगिंग तक नहीं की जा रही है। शिकायत के बावजूद नगर निगम के अधिकारी हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं।
राजधानी को साफ-सुथरा रखने के नगर निगम के दावे फेल होते दिख रहे हैं। जोन आठ के शारदा नगर वार्ड द्वितीय तेलीबाग बाजार में स्थित पुलिस चौकी के बगल से अम्बेडकरपुरम् सुभाष नगर को जाने वाले संपर्क मार्ग पर कई महीनों से घरों का गंदा पानी सडकों पर भरा हुआ है। यहां के लोग जल भराव से जूझ रहे हैं। इसके कारण स्थानीय निवासी में चर्म व संक्रामक बीमारियों के शिकार हो रहे हैं। स्थानीय निवासियों का कहना है कि सडक़ चौड़ीकरण के दौरान दोनों ओर नाले बनाये गये हैं। ये चोक पड़े हैं। इसके कारण यहां जलभराव की समस्या बनी रहती है। यही नहीं यहां चारों ओर गंदगी का अंबार लगा रहता है। लापरवाही का आलम यह है कि नगर निगम की ओर से यहां मच्छरजनित बीमारियों से बचाव के लिए फॉगिंग तक नहीं कराई जाती है। स्थानीय लोगों का कहना है कि कई बार शिकायत करने के बाद भी नगर निगम ने आज तक कोई कार्रवाई नहीं की।

क्या कहना है स्थानीय लोगों का

अभिषेक ठाकुर का कहना है कि इस मामले में कई बार सभासद समेत मेयर से शिकायत की गई। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। नगर निगम के अधिकारी तो फोन तक नहीं उठाते हैं।

शुभम कुमार का कहना है कि कोरोना के संक्रमण को देखते हुए लोगों में काफी दहशत है। गंदगी और जलभराव के कारण लोग परेशान हैं। शिकायत के बाद भी समस्या का हल नहीं निकला।

सोनू यादव का कहना है कि जलभराव और गंदगी से लोगों का जीना मुहाल हो गया है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए लोगों में दहशत हैं। निगम के अधिकारी समस्या का समाधान नहीं निकाल रहे हैं।

मामला संज्ञान में आया है। जल्द ही समस्या का समाधान किया जाएगा। वहां की सफाई व्यवस्था को भी दुरुस्त किया जाएगा।
कुलदीपक, क्षेत्रीय निरीक्षक, सफाई व्यवस्था

जल निकासी की समस्या है। अपर नगर आयुक्त के साथ बैठकर इसका स्थायी समाधान किया जायेगा।
चंदन पटेल, एसडीएम सरोजनी नगर

शिवभोला का कहना है कि यह समस्या पांच सालों से है। कई बार सभासद और मेयर से शिकायत की गई लेकिन कुछ भी नहीं हुआ।

दिनेश सिंह का कहना है कि क्षेत्र में जलभराव और गंदगी बड़ी समस्या है। इसके कारण संक्रामक रोगों का खतरा बढ़ गया है। नगर निगम के अधिकारी इस मामले को हल करने में कोई रूचि नहीं ले रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *