तेजाब हत्याकांड में आया फैसला, शहाबुद्ïदीन को उम्रकैद

Captureपटना। राजद के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन समेत अन्य आरोपियों को सीवान जेल में गठित विशेष कार्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई है। तेजाब से दो लडक़ों के हत्या मामले में सीवान के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन को कोर्ट ने दोषी माना था। सरकारी रिकॉर्ड के हिसाब से 2004 में हुई इस घटना के वक्त शहाबुद्दीन जेल में थे। लेकिन फैसले से साबित हो गया है कि जेल एडमिनिस्ट्रेशन झूठ बोल रहा था।
गौरतलब है कि सीवान का यह मामला तेजाब कांड के नाम से जाना जाता है। घटना के पीछे प्रॉपर्टी का विवाद था। 16 अगस्त 2004 को कारोबारी चन्द्रकेश्वर प्रसाद उर्फ चंदा बाबू के दो बेटों गिरीश और सतीश को उनकी दुकान से किडनैप किया गया था। दोनों लडक़ों को सीवान के प्रतापपुर गांव ले जाया गया। जहां तेजाब डालकर उनकी हत्या कर दी गई। कोर्ट के सामने मारे गए लडक़ों के भाई ने आई विटनेस के तौर पर कहा कि घटना के वक्त शहाबुद्दीन भी मौजूद थे। और उनके कहने पर ही दोनों लडक़ों का मर्डर किया गया। इस मामले की सुनवाई के लिए सीवान जेल में ही एक स्पेशल कोर्ट बनाया गया था। आज भी यही पर फैसला सुनाया गया।

Pin It