तीन मई को महाधरना

लखनऊ। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद का कर्मचारियों की वेतन विसंगति, पेंशन ग्रेच्युटी सहित कई प्रमुख मांगों को लेकर महाधरना अब तीन मई को होगा। पहले महाधरना 11 मार्च को प्रस्तावित था जिसे मुख्य सचिव से मिले आश्वासन के बाद आगे बढ़ा दिया गया है। परिषद ने सभी मांगों को पूरा करने के लिए सरकार को 30 अप्रैल तक का समय दिया है।

Pin It