तमाशा बन गया लखनऊ में गाडिय़ों का चेकिंग अभियान

  • अपना वायरलेस सेट युवक के हाथ में थमाकर पुलिस वाले गाड़ी लेकर गठøौ
  • खुद बिना नंबर की प्लेट वाली मोटर साइकिल पर घूम रहे पुलिस वाले दूसरे का कर रहे हैं चालान

4 may PAGE-114पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। बिना नंबर प्लेट और बिना हेलमेट गाड़ी चलाने वालो के लिए पुलिस ने कल जोर-शोर से अभियान शुरू किया था। अभियान के दूसरे दिन ही पुलिस खुद तमाशा बन गई। हजरतगंज में जब एक युवक और युवती को पुलिस के दो सिपाहियों ने रोका तो उसने विरोध शुरू किया। जब सिपाहियों ने गाड़ी की चाबी निकाली तो युवक उससे भिड़ गया और उसका वायरलेस सेट हाथ में ले लिया। वायरलेस सेट वापस लेने की जगह सिपाही गाड़ी लेकर चले गए और यह युवक पुलिस का वायरलेस सेट लेकर टहलता रहा। उधर हजरतगंज चौराहे पर दूसरों की नंबर प्लेट न होने के कारण चालान कर रही पुलिस के जाबॉज खुद बिना नंबर की मोटर साइकिल पर बैठे नजर आए, जिसका लोगों ने विरोध किया।

मेरे संज्ञान में यह घटना नहीं है। मैं अभी मालूम करता हूं, जिसने भी यह घटना की है। उसके खिलाफ कठोरतम कार्रवाई की जाएगी।
-हबीबुल हसन
एसपी ट्रैफिक लखनऊ

आईएएस हैं तो जूते की नोक पर ही बात करेंगे

इन महाशय को देखिए, यह महाराज 2013 बैच के छत्तीसगढ़ कैडर के आईएएस जगदीश सोनकर हैं। यूपी का दुर्भाग्य है कि यह साहब यहां के रहने वाले हैं। दुर्भाग्य इसलिए कि इन्हें महिलाओं के सामने खड़े होने का सलीका भी नहीं आता। साहब बहादुर अस्पताल का निरीक्षण करने गए थे। अभी-अभी नौकरी शुरू की है तो सबको जूते की नोक पर रखने की आदत बनी हुई है, लिहाजा महिला मरीज से बात करते हुए इस बदतमीजी के साथ खड़े हुए हैं।

दिल्ली में पकड़े गए 12 खूंखार आतंकी

  • आतंकियों के पास से भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद
  • पुलिस की स्पेशल सेलआतंकियों से कर रही पूछताछ

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने आतंकियों की एक बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया है। राजधानी समेत देश के अन्य कई शहरों में धमाका करने की साजिश रचने के आरोप में 12 संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया गया है। इन सभी के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से संबंध बताये जा रहे हैं।
दिल्ली पुलिस की स्पेशल टीम के छापे में 12 संदिग्ध आतंकी पकड़े गए हैं। इन सभी का संबंध आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से बताया जा रहा है। दिल्ली समेत आस-पास के कई शहरों को दहलाने की साजिश रचने वाले आतंकियों की एनसीआर में मौजूदगी की खुफिया सूचना मिली थी। जिसको गंभीरता से लेकर सेल ने अपना जाल बिछाया और आतंकियों के ठिकाने की तलाश शुरू कर दी गई। पुलिस ने दिल्ली और आस-पास के राज्यों में छापा मारकर 12 संदिग्ध आतंकियों को धर दबोचा है। सूत्रों की मानें तो इन संदिग्धों के पास से भारी मात्रा में विस्फोटक सामग्री और अन्य कई प्रकार की डिवाइस बरामद की गई है। जिनका दिल्ली समेत आस-पास के शहरों में विस्फोट करने और अपने आकाओं से संपर्क स्थापित करने में इस्तेमाल किया जा रहा था। इन संदिग्धों के पास से पहचान पत्र भी बरामद किये गये हैं। जिनकी सत्यता की जांच की जा रही है। विभागीय सूत्रों के मुताबिक करीब महीने भर पहले आतंकियों से बारे में खुफिया विभाग को सूचना मिली थी। तब से लगातार दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल अन्य इंटेलीजेंस एजेंसियों के साथ मिलकर काम कर रही थी। इस टीम ने दिल्ली, एनसीआर और पड़ोसी राज्यों में जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े लोगों को तलाशना शुरू कर दिया। इसमें सोशल साइट्स के माध्यम से भी जानकारी इकट्ठा की गई। यहां तक की आतंकियों को स्लीपर सेल की ओर से मदद मिलने की बात भी सामने आई। इसके बाद दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने कई जगहों पर छापेमारी की, जिसमें कुल 12 संदिग्धों को हिरासत में ले लिया। बताया जा रहा है कि दिल्ली के गोकुलपुरी से आठ और देबबंद से 4 संदिग्ध पकड़े गए हैं। पुलिस के अनुसार, इन आतंकियों की दिल्ली में किसी बड़ी आतंकी घटना को अंजाम देने की साजिश थी। फिलहाल दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल पकड़े गये आतंकियों से पूछताछ में जुट गई है।

Pin It