डॉ. कलाम को श्रद्धांजलि के बाद विधानसभा स्थगित

H1पूरे सदन ने दिल से याद किया डॉ. कलाम को, कहा उनके योगदान को कभी नहीं भुलाया जा सकेगा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा का मानसून सत्र आज पहले दिन पूर्व राष्टï्रपति डॉ. कलाम को श्रद्धांजलि देने के बाद स्थगित हो गया। सदन में मुख्यमंत्री और विपक्ष ने डॉ. कलाम को अपनी श्रद्धांजलि देते हुए कहा- डॉ. कलाम ने देश हित में जो काम किए उसको यह देश हमेशा याद रखेगा। आज सदन की कार्यवाही स्थगित हो गई। अब सोमवार को विधान सभा शुरू होगी, जिसके हंगामेदार रहने की उम्मीद है।
विधानसभा शुरू होते ही मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने डॉ. कलाम को श्रद्धांजलि देते हुए उनसे जुड़े संस्मरण सुनाए । उन्होंने कहा कि कलाम साहब बेहद गरीब परिवार में पैदा होकर इतनी ऊचाईयों तक पहुंचे। उन्होंने कहा कि कलाम साहब ने हाल ही में एक पत्र लिखा था। कलाम साहब का मानना था कि जब तक यूपी का विकास नहीं होगा तब तक देश का विकास नहीं हो सकता। उन्होंने प्रदेश के विकास का सपना देखा था।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कलाम साहब जैसे लोग कभी-कभी ही इस दुनिया में आते हैं। उन्होंने कलाम साहब से जुड़ी यादों को ताजा करते हुए कहा कि कलाम साहब का यूपी से विशेष लगाव था। नेता विपक्ष स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि कलाम साहब को लोग मिसाइल मैन के नाम से जानते थे और उन्होंने देश का नाम ऊंचा किया। विधान परिषद में भी डॉ. कलाम को श्रद्धांजलि दी गई।

कांग्रेस है संसद न चलने की जिम्मेदार:प्रकाश जावड़ेकर

पूरे देश में आज केन्द्रीय मंत्रियों ने बोला कांग्रेस पर हमला, कहा परिवार बचाने के लिए लोकतंत्र ताक पर रख रही है कांग्रेस

लखनऊ। केन्द्रीय पर्यावरण व वन राज्यमंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने आज प्रदेश भाजपा मुख्यालय पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए कांग्रेस पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि जनता ने लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की जो हालत की, उसी के चलते कांग्रेस संसद न चलने देकर जनता से बदला लिया है। संसद न चलने के कारण जनता के हित का कोई बिल पास नहीं हो पाया। संसद न चलने के लिए कांग्रेस जिम्मेदार है।
श्री जावड़ेकर ने कहा कि सुषमा के खिलाफ कांग्रेस ने जो गुब्बारा फुला रखा था, वह फूट गया है। सच्चाई सबके सामने आ गई है। कांग्रेस ने पहले ही निर्णय ले लिया था कि सदन को चलने नहीं देना है। यह सब योजनावद्ध तरीके से किया गया। कांग्रेस को जनता के हित से कोई लेना-देना नहीं है।

दरगाह में माथा टेकने के बाद रोते हुए थाने पहुंची राधे मां

खुद को देवी बताने वाली राधे मां पुलिस से बचने के लिए धार्मिक स्थानों पर टेक रही
हैं माथाथाने जाने से पहले फूट-फूट कर रोई राधे मां

लखनऊ। जो राधे मां खुद को देवी बताकर भोले भाले लोगों को गुमराह करती थी, वही राधे मां अब पुलिस से बचने के लिए धार्मिक स्थानों पर माथा टेक रही है और कह रहीं है भगवान किसी तरह पुलिस के चंगुल से बचा लो। आज थाने जाने से पहले अपने भक्तों के बीच राधे मां फूट-फूट कर रो पड़ी और किसी से भी बात नहीं की।
मुंबई पुलिस ने कांदिवली थाने में राधे मां को पूछताछ के लिए बुलाया है। मुंबई के प्रतिष्ठिïत परिवार की बहू ने राधे मां के खिलाफ शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताडि़त करने की रिपोर्ट दर्ज कराई है। जिसमें उन्हें थाने पूछताछ के लिए बुलाया गया है।
आज जब राधे मां अपने भक्त की गोद में कार तक गई तो वह रो रही थी। इस मुकदमे के दर्ज होने के बाद राधे मां की काफी उत्तेजक तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई हैं। राधे मां पर अश्लीलता फैलाने का भी आरोप लगा है।
पुलिस राधे मां से विस्तार से पूछताछ करेगी और अगर राधे मां संतोषजनक जवाब नहीं दे पाई तो उनकी गिरफ्तारी हो सकती है। राधे मां ने पत्रकारों से कहा कि उन्हें ऊपर वाले के न्याय पर पूरा भरोसा है और उनकी भगवान से बात हो गई है। अब देखना यह है कि क्या उनकी बात पुलिस भी मानती है।

Pin It