डीएम अभिषेक प्रकाश पहुंचे मलिहाबाद, मृतक की पत्नी से कहा दोषियों पर एनएसए के तहत होगी कार्रवाई

डीएम अभिषेक प्रकाश पहुंचे मलिहाबाद, मृतक की पत्नी से कहा दोषियों पर एनएसए के तहत होगी कार्रवाई

  • दिलावर गांव की घटना पर जिलाधिकारी पुलिस की कार्यशैली से नाराज
  • मृतक की पत्नी को दी पांच लाख की आर्थिक सहायता

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मलिहाबाद तहसील क्षेत्र के दिलावर गांव में हुई घटना के दो दिन बाद आज जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश मौके पर पहुंचे। जिलाधिकारी ने वहां परिवारीजन सहित मृतक की पत्नी सुमन देवी से मुलाकात की। उन्हें ढांढस बंधाने के बाद दोषियों पर एनएसए के तहत सख्त कार्रवाई करने की बात कही। दिलावर गांव की घटना पर जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश पुलिस की कार्यशैली से नाराज भी दिखे।
उन्होंने मृतक के परिजनों से संवाद करते हुए कहा कि दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। प्रकरण की विवेचना पुलिस उपाधीक्षक को सौंपी गई है। इसके बाद मृतक की पत्नी के बैंक खाते में शासन की ओर से पांच लाख रुपए सहायता राशि भी दी। डीएम ने कहा कि ग्रामीण आवास योजना के तहत आवास के साथ ही पीडि़ता सुमन देवी को विधवा पेंशन एवं मृतक के पिता को वृद्धावस्था पेंशन स्वीकृत की जा रही है। बता दें कि दिलावरनगर गांव में गुरुवार रात मामूली विवाद में 27 वर्षीय रामबिलास की मौत से आक्रोशित सैकड़ों लोग शुक्रवार को सडक़ पर उतर आए। उन्होंने लखनऊ-हरदोई राजमार्ग पर बांस-बल्लियां लगाकर सडक़ जाम कर दी और पकड़े गए तीन आरोपियों को मौके पर लाने की मांग की थी। अधिकारियों ने इनकार किया तो लोग प्रदर्शन, हंगामा व पथराव कर पुलिसकर्मियों को खदेड़ दिया था। इसके बाद मामले ने तूल पकड़ा।

इंस्पेक्टर सस्पेंड, दोषियों पर एनएसए लगाने का निर्देश

मलिहाबाद की घटना पर कड़ी कार्रवाई करते हुए लापरवाही के आरोप में इंस्पेक्टर को सस्पेंड कर दिया गया है। डीएम ने अपराधियों पर एनएसए लगाने के निर्देश दिए हैं। वहीं पीडि़त परिजनों का कहना था कि पुलिस ने जानबूझकर हत्या का केस नहीं लिखकर आरोपियों को बचाने का प्रयास किया। परिजनों ने हत्या की धारा में केस दर्ज करने, दो फरार आरोपियों को गिरफ्तार करने व 10 लाख रुपये मुआवजे की मांग की।

डीएम अलीगढ़ अपशब्द मामले में साक्ष्य मांगा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। जिलाधिकारी अलीगढ़ चंद्रभूषण सिंह द्वारा अलीगढ़ के प्रभारी सीएमएस डॉ. वीके गुप्ता के साथ हुई बातचीत अपशब्दों का प्रयोग करने पर उनके खिलाफ की गयी शिकायत पर शासन ने शिकायतकर्ता एक्टिविस्ट डॉ नूतन ठाकुर से साक्ष्य मांगे हैं। बातचीत के वायरल हुए ऑडियो में डीएम अलीगढ चंद्रभूषण सिंह द्वारा प्रभारी सीएमएस डॉ. गुप्ता को पचास जूते मारूंगा, बेवकूफ जैसे शब्दों के साथ ही गंदे शब्दों का प्रयोग भी किया गया है।
डॉ नूतन ठाकुर ने अपनी शिकायत में कहा था कि किसी भी आईएएस अफसर से ऐसी भाषा एवं शब्दों की अपेक्षा नहीं की जा सकती है। यह अखिल भारतीय सेवा आचरण नियमावली के खिलाफ है तथा स्पष्ट प्रशासनिक कदाचार है। प्रवीण कुमार सिंह, अनुसचिव नियुक्ति अनुभाग-5 ने नूतन को शपथपत्र के जरिये शिकायत की पुष्टि करने तथा शिकायतों को सिद्ध करने के लिए समुचित साक्ष्य देने को कहा है।

चारबाग में फुटओवर ब्रिज के नीचे शुरू हुई साफ-सफाई

  • नगर निगम का सफाई अभियान जारी रहेगा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के चारबाग में नगर निगम ने शनिवार सुबह से फुटओवर ब्रिज के नीचे साफ-सफाई का काम तेजी से शुरू कर दिया है। नगर स्वास्थ्य अधिकारी ने भी क्षेत्र का जायजा लिया।
4पीएम समाचार पत्र ने चारबाग में अव्यवस्था व पसरी गंदगी को लेकर खबर प्रकाशित की थी इसके बाद नगर निगम की नींद टूटी और कई गाडिय़ों सहित एक दस्ता साफ-सफाई करने के लिए जुट गया। वहीं क्षेत्र में हो रही साफ-सफाई के प्रति दुकानदारों में खुशी देखने को मिल रही है। दरअसल, लाटूश रोड से चारबाग की तरफ जाने के लिए कई सालों पहले एक फुट ओवरब्रिज बनाया गया था। मेट्रो के निर्माण के समय फुट ओवर ब्रिज पूरी तरीके से बंद कर दिया गया था। वहीं जब यह चालू हुआ तो इस पर इतनी गंदगी कि लोगों ने इसका इस्तेमाल करना बंद कर दिया। फुटओवर ब्रिज पर पहली गंदगी को लेकर 4 और पीएम समाचार पत्र में मुद्दा प्रमुखता से उठाया, जिसके बाद नगर आयुक्त ने क्षेत्रीय सफाई निरीक्षक की जमकर क्लास ली। इसके दूसरे दिन नगर निगम ने सफाई अभियान शुरू किया। नगर आयुक्त ने कहा कि शहर में सफाई अभियान जारी रहेगा।

15 आईएएस समेत आठ जिलों के डीएम बदले

  • उत्तरप्रदेश में देर रात बड़ा प्रशासनिक फेरबदल
  • सात जिलों के जिलाधिकारी प्रतीक्षारत सूची में

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर शासन ने देर रात 15 आईएएस अफसरों के तबादले कर दिए। प्रदेश के आठ जिलों में नए जिलाधिकारी तैनात किए गए हैं। इनमें से सात जिलों के डीएम को हटाते हुए उन्हें प्रतीक्षारत कर दिया गया है। जिन जिलों में नए जिलाधिकारी तैनात किए गए हैं, उनमें मेरठ, इटावा, सीतापुर, ललितपुर, गाजीपुर, मऊ, संतकबीरनगर और सुल्तानपुर शामिल हैं।
पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम वाराणसी के एमडी रहे के बालाजी को मेरठ, यूपी मेडिकल सप्लाईज कारपोरेशन लखनऊ की एमडी श्रुति सिंह को इटावा का जिलाधिकारी बनाया गया है। विशेष सचिव एवं स्टाफ अफसर मुख्य सचिव तथा अपर निदेशक प्रशासन राजस्व विशिष्ट अभिसूचना/अपर आवास आयुक्त उत्तर प्रदेश आवास एवं विकास परिषद लखनऊ विशाल भारद्वाज को सीतापुर, विशेष सचिव नमामि गंगे तथा ग्रामीण जलापूर्ति विभाग ए. दिनेश कुमार को ललितपुर, सचिव लखनऊ विकास प्राधिकरण मंगला प्रसाद सिंह को गाजीपुर, उपाध्यक्ष मेरठ विकास प्राधिकरण राजेश कुमार पांडेय को मऊ, उपाध्यक्ष बरेली विकास प्राधिकरण दिव्या मित्तल को संत कबीर नगर और संत कबीर नगर के जिलाधिकारी रवीश गुप्ता को सुल्तानपुर का डीएम बनाया गया है। मेरठ के डीएम रहे अनिल ढींगरा, इटावा के डीएम जितेंद्र बहादुर सिंह, सीतापुर के डीएम अखिलेश तिवारी, ललितपुर के डीएम योगेश कुमार शुक्ला, सुल्तानपुर की डीएम सी. इंदुमति, गाजीपुर के डीएम ओम प्रकाश आर्या और मऊ के डीएम ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी को हटाकर प्रतीक्षा सूची में डाल दिया गया है।

हुक्काबार पर इलाहाबाद कोर्ट के बाद सरकार भी सख्त

  • मुख्य सचिव ने डीएम-एसपी से रिपोर्ट मांगी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। कोरोना काल में हुक्काबार बंद करने को लेकर मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी ने प्रदेश के सभी मंडलायुक्त, जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षकों से जिलेवार रिपोर्ट मांगी हैं।
मुख्य सचिव का कहना है कि कई शिकायतें मिली है कि बार-रेस्टोरेंट में चोरी-छिपे प्रतिबंध के बावजूद हुक्का पिलाया जा रहा है। जबकि इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने प्रदेश में हुक्का बार पर रोक भी लगा रखी है। बावजूद कोविड-19 के नियमों का उल्लंघन हो रहा है। मुख्य सचिव ने बताया कि संपूर्ण उत्तरप्रदेश में हुक्काबार बंद करने के लिए जिलेवार आख्या मांगी गई है ताकि पता चल सके कि कोरोनाकाल में वे कौन से हुक्काबार है जो कोविड-19 के नियमों का पालन नहीं कर रहे है।

तत्काल शासन को जानकारी भेजने के निर्देश
मुख्य सचिव के पत्र के अनुसार कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए अग्रिम आदेशों तक समस्त बार, रेस्टोरेंट व कैफे में हुक्का सेवा को तत्कालिक प्रभाव से प्रतिबंधित किया जाता है। अगर कोई गैर तरीके से हुक्काबार चलाते हुए पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाए। उन्होंने सभी डीएम-एसपी से अपील की इस संबंध में संबंधित जानकारी व कार्रवाई तत्काल शासन को भेजी जाए। ताकि इलाहाबाद हाईकोर्ट में शपथ पत्र दाखिल किया जा सके।

लखनऊ से जम्मू कटरा के लिए चलेंगी तीन एसी बसें

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। एक साल से बंद पड़ी लखनऊ कटरा एसी जनरथ बस सेवा एक बार फिर शुरू करने की तैयारी है। इस बार चारबाग बस डिपो बसों का संचालन करेगा। इसके लिए जम्मू परिवहन से तीन बसों के परमिट मांगे गए हैं।
लखनऊ से जम्मू तीन बसों का संचालन होगा। दोनों ओर से एक-एक बसें चलेंगी। वहीं लंबा रूट होने से एक बस बीच रास्ते में रहेगी। ये बसें आलमबाग बस अड्डे से संचालित होंगी। चारबाग डिपो के एआरएम अमरनाथ सहाय ने बताया कि जम्मू एंड कश्मीर सडक़ परिवहन को पत्र भेजकर तीन बसों के परमिट की मंजूरी मांगी गई हैं। उम्मीद है कि दस दिनों में परमिट की मंजूरी मिल जाएगी। परमिट मंजूर होते ही इसी महीने बसों की समय सारणी और किराया तय करके बसों की शुरूआत की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *