डकैती के दौरान मां-बाप को बांधकर 12 साल की बेटी से बलात्कार

  • दर्जन भर बदमाशों ने रेप के बाद लूट की वारदात को दिया अंजाम
  • एसएसपी ने पीडि़त परिवार से की मुलाकात, जांच पड़ताल में जुटी पुलिस
  • राजधानी में डकैती और रेप की घटना से सहमे लोग

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
captureलखनऊ। राजधानी के पारा थाना क्षेत्र में दर्जन भर बदमाशों ने नाबालिग लडक़ी के मां-बाप को बंधक बनाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। बदमाशों ने घिनौनी वारदात को अंजाम देने के बाद परिवार के लोगों को बुरी तरह पीटा और घर में रखा नकदी, जेवर और अन्य सामान लूटकर फरार हो गये। इस घटना की सूचना मिलते ही एसएसपी मंजिल सैनी भी मौके पर पहुंच गईं। उन्होंने पीडि़त परिवार से मुलाकात की और घटना की जांच के लिए टीम का गठन कर दिया है। पुलिस छानबीन में जुटी है लेकिन अब तक कुछ भी हाथ नहीं लगा है।
पारा थाना क्षेत्र स्थित गढ़ी पतौरा गांव निवासी आशाराम शर्मा पुत्र स्व. शिव बालक शर्मा अपनी पत्नी व तीन बच्चों के साथ रहते हैं। आशाराम के मुताबिक सोमवार की देर रात करीब दर्जन भर से अधिक असलहाधारी डकैत घर में घुस आये। उन लोगों ने परिवार के सभी लोगों को बंधक बना लिया। इसके बाद बदमाशों ने उनकी नाबालिग बेटी (12) के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। इस दौरान मां-बाप बदमाशों से मिन्नतें करते रहे लेकिन उन्होंने जरा भी रहम नहीं किया। बदमाशों ने आशाराम को भी असलहे के बट से बुरी तरह पीट कर घायल कर दिया। इसके बाद घर में लूट पाट की और मौके से फरार हो गए। डकैतों के फरार होते ही पीडि़त ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस के आलाधिकारी, फिंगर प्रिंट्स दस्ता व डॉग स्क्वायड की टीम मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू कर दी है।
इस घटना की सूचना मिलने पर एसएसपी मंजिल सैनी ने भी मौके का मुआयना किया। उन्होंने घटना को गंभीरता से लेकर मामले का खुलासा करने और अपराधियों की धर-पकड़ के लिए टीम का गठन कर दिया है। पुलिस ने पीडि़त परिवार से पूछताछ में मिली जानकारी के अनुसार छानबीन शुरू कर दी है। वहीं लडक़ी को मेडिकल के लिए भेज दिया गया है। फिलहाल पुलिस को अभी तक कोई पुख्ता सबूत नहीं मिला है, जिससे पुलिस डकैतों और घिनौनी वारदात को अंजाम देने वालों तक पहुंच सके। बता दें इसी पारा थाना क्षेत्र में बीते सोमवार को भी दुष्कर्म की दो अन्य संगीन वारदातों को भी अंजाम दिया गया था। इन मामलों में भी पुलिस की लापरवाही उजागर हुई थी। वहीं राजधानी में इतनी बड़ी घटना होने के बावजूद पुलिस महकमे के आला अधिकारी सतर्क नहीं है।

Pin It