ट्रॉमा का एसी पावरप्लांट ठप, मचा हाहाकार

एक्सीडेंटल मरीजों में बढ़ा संक्रमण का खतरा, कई वार्डों में स्ट्रेचर पर किया जा रहा इलाज

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। केजीएमयू के ट्रामा सेंटर में एसी प्लांट ठप हो जाने से हाहाकार मच गया है। भीषण गर्मी में मरीजों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इसके आलावा बर्न, न्यूरो व एक्सीडेंट केसेज वाले मरीजों को संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। मरीजों की बढ़ती संख्या से हालात काबू से बाहर है। न्यूरो सर्जरी, मेडिसिन सहित कई वार्डों में स्ट्रेचर पर ईलाज किया जा रहा है। साथ ही डॉक्टरों को भी परेशानी हो रही है। आने वाले नये मरीजों की ड्रेसिंग करने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
दुर्गंध का आलम
इमरजेंसी में पहुंच रहे मरीजों के लिए गर्मी से बचने के लिए हस्तचालित पंखे का इस्तेमाल करना पड़ रहा है। एसी ठप होने से ब्लॉक में दुर्गंध का आलम है। जिससे बैठना मुश्किल हो रहा है। प्लांट के ठप हो जाने से पूरे ट्रॉमा में गर्मी छाई है।
ब्लाक के पूरी तरह से बंद होने के कारण भीतर तापमान भी बढ़ गया है। इमरजेंसी में पहुंचे मरीजों को सबसे ज्यादा दिक्कत हो रही है। इमरजेंसी में अपने मरीज को लेकर पहुंचे गोसाईगंज निवासी रोशन लाल ने कहा कि इमरजेंसी जैसे महत्वपूर्ण यूनिट में ऐसी अव्यवस्था से मरीज की हालत और खराब हो जाती है। इसमें गंभीर मरीजों को ज्यादा दिक्कतें झेलनी पड़ती हैं। एक अन्य तीमारदार सरोज ने कहा कि इमरजेंसी में बेहतर व्यवस्थाएं होनी चाहिये। मरीजों को उचित चिकित्सा के साथ बेहतर वातावरण भी दिया जाना चाहिए।
वहीं, आईसीयू में भी गर्मी से मरीजों की हालत खराब रही।
फाल्स सीलिंग से टपक रहा पानी
ट्रॉमा सेंटर में अव्यवस्था का आलम है। एक्सरे और अल्ट्रासाउंड कक्षों की ओर फाल्स सीलिंग से पानी टपक रहा है। जिससे मरीजों के निकलने के रास्ते में पानी भरा रहता है। विवि प्रशासन की ओर से पानी के टपकने के स्थान पर बड़ा सा टब रख दिया गया है लेकिन बनवाने की काई सुध नही है।
अक्सर खराब रहता है एसी प्लांट
ट्रोॅमा का एसी प्लांट 10 वर्ष पुराना है। जिससे अक्सर खराब होने की दिक्कत बनी रहती है। बीते 1 महीने में प्लांट कई बार खराब हो चुका है। गर्मी में ज्यादा लोड के कारण खराब होने का सिलसिला जारी है। जिससे मरीजों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

शासन को भेजा जा चुका है प्रस्ताव
एसी प्लांट करीब 10 वर्ष पुराना है। जिससे अक्सर खराब रहता है। नये एसी प्लांट के लिए केजीएमयू प्रशासन की ओर से शासन को प्रस्ताव भेजा जा चुका है।
-डॉ. एसएन शंखवार, ट्रामा प्रभारी, केजीएमयू

Pin It