ट्रेन हादसों में 35 की मौत, सैकड़ों घायल

म.प्र. में कामायनी व जनता एक्सप्रेस हादसे की शिकार

Capture 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मंगलवार की रात मध्य प्रदेश के हरदा के करीब रात एक ही जगह पर कुछ वक्त के अंतराल में दो बड़े ट्रेन हादसे हुए। इटारसी-मुंबई रेलवे ट्रैक पर दो ट्रेनें पटरी से उतर गईं। मुंबई-वाराणसी कामायनी एक्सप्रेस के 6 डिब्बे, जबकि पटना से मुंबई जा रही जनता एक्सप्रेस के 4 डिब्बे और इंजन पटरी से उतर गए। इस हादसे में अभी तक 35 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हुई है। इनमें से 11 शव जनता एक्सप्रेस की एक ही बोगी से निकाले गए। सैकड़ों लोग घायल हुए हैं। मौके पर एनडीआरएफ और सुरक्षाकर्मी राहत कार्यों में जुटे हुए हैं। रेस्क्यू टीम ने अब तक 300 लोगों को बचाया है।
यह ट्रेन हादसा हरदा से 25 किलोमीटर दूर खिड़किया और भिंगरी के बीच मंगलवार की रात करीब 11:30 बजे हुआ। भोपाल डिवीजन के जनसंपर्क अधिकारी आईएस सिद्दीकी ने बताया कि मुताबिक तीन सौ से ज़्यादा लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है और राहत कार्य जोरों से चल रहा है। आपदा में राहत पहुंचाने वाली संगठन एनडीआरएफ़ के महानिदेशक ओपी सिंह ने बताया कि 35 लोगों पर आधारित एनडीआरएफ की एक टीम भोपाल से घटनास्थल के लिए भेजी गई है।
रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि यह प्राकृतिक आपदा है। इसके आगे हम सभी बेबस हैं। हादसे की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। सेंट्रल जोन के सेफ्टी कमिश्नर को ये जिम्मेदारी दी गई है। रेलवे बोर्ड के प्रवक्ता अनिल सक्सेना के मुताबिक मारे गए लोगों के परिजनों को दो-दो लाख, गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार और मामूली रूप से घायलों को 25-25 हजार रुपए का मुआवजा दिया जाएगा। भोपाल डिवीजऩ के डीआरएम आलोक कुमार ने बताया के उन्होंने यहां एक नहर आती है जिस पर से ट्रेन गुजऱती है। वहां तेज़ बारिश के चलते अचानक से फ्लैश वाटर आने की वजह से करीब 150 मीटर ट्रैक के नीचे से मिट्टी निकल गई। मिट्टी निकलने की वजह से ट्रेन पलट गई और माचक नदी में गिर गई, अधिकतर लोगों की मौत नदी में गिरने की वजह से हुई। इनके अलावा बाक़ी सभी लोगों को बचा लिया गया है। नई दिल्ली में रेलवे प्रवक्ता अनिल सक्सेना के मुताबिक, ‘पटरियों पर पानी था और पुल डूबा हुआ था। इस वजह से कामायनी एक्सप्रेस के आखिरी छह डिब्बे पटरी से उतर गए। लगभग उसी समय दूसरी पटरी पर जनता एक्सप्रेस का इंजन और चार डिब्बे भी पटरी से उतर गए। जनता एक्सप्रेस जबलपुर से मुंबई जा रही थी। रेलवे ने हेल्पलाइन नंCaptureबर भी जारी किए हैं।

प्रधानमंत्री ने हादसे पर जताया दुख
मोदी ने ट्वीट किया कि म.प्र. में हुए दोनों ट्रेन हादसे बहुत ही दुखद हैं। मारे गए लोगों के लिए बहुत ही दुख है। मृतकों के परिजनों को सांत्वना। घायलों के साथ मेरी प्रार्थना। लोगों को मदद पहुंचाने के लिए अधिकारी हर मुमकिन कोशिश कर रहे हैं। स्थिति पर नजर रखी जा रही है।

Pin It