ट्रांजिट ऑफ मर्करी देखने उमड़ी भीड़

  • अदभुत नजारे का सभी ने उठाया लुत्फ

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। जनेश्वर मिश्र पार्क में सोमवार को एक अलग ही नजारा देखने को मिला। यहां सैकड़ों की संख्या में लोग ट्रांजिट ऑफ मर्करी की खगोलीय घटना देखने पहुंचे थे। बच्चों से लेकर बूढ़े तक सभी इस नजारे को देखने के लिए बेताब दिखे। इस खगोलीय घटना को दिखाने के लिए इंदिरा गांधी नक्षत्रशाला की ओर से प्रबंध किया गया। इसमें बादलों की आवाजाही के कारण व्यावधान जरूर हुआ लेकिन मौसम साफ होते ही लोगों को अद्ïभुत नजारा देखने को मिला।
नक्षत्रशाला के स्टेट प्रोजेक्ट को-आर्डिनेटर डॉ. अनिल यादव ने बताया कि यह घटना अब दोबारा 2019 में होगी, लेकिन तब यह भारत में नजर नहीं आएगी। भारत में अगला ट्रांजिट ऑफ मर्करी 2032 में देखने को मिलेगा। यह एक दुर्लभ खगोलीय घटना है। इसके लिए नक्षत्रशाला की तरफ से 12 टेलिस्कोप व सात हजार चश्मों का इंतजाम किया गया है। इस घटना को देखने के लिए कई स्कूलों के बच्चे पहुंचे। शाम 4:42 से 6:45 तक जनेश्वर मिश्र पार्क में एकत्रित सैकड़ों लोगों की निगाहें आसमान की ओर टिकी रहीं। पहले तो बादलों की वजह से बुध ग्रह दिखाई नहीं दिया। लेकिन 5:15 पर बादलों की ओट से सूर्य और बुध बाहर आए तो बच्चों में उत्साह की लहर दौड़ गई। कुछ बच्चों ने सोलर गॉगल पहन रखा था तो कुछ लोगों ने टेलीस्कोप से इस नजारे को देखा। इसके अलावा शहर के अन्य स्थानों पर भी ट्रांजिट ऑफ मर्करी की अद्ïभुत और रोमांचक घटना को देखने के लिए इंतजाम किए गए थे।

Pin It