जुर्माने के बाद भी नहीं सुधर रही डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन प्रक्रिया

  • बरसात का मौसम सिर पर और निकाल दिए सफाई कर्मचारी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। पांच लाख का जुर्माना लगने के बाद भी अब तक निजी कंपनी ज्योति इनवायरोटेक शिवरी प्लांट का काम पूरा नहीं कर सकी है। इसके बावजूद कंपनी अपने कर्मचारियों को हटाने पर तुली हुई है। जोन-5 में डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन कर शिवरी प्लांट तक पहुंचाने के जिम्मेदारी कंपनी के पास है लेकिन बारिश शुरू होने से ठीक पहले कंपनी ने इस जोन में तैनात अपने जोनल कोआर्डिनेटर को हटा दिया है। इससे सफाई व्यवस्था पटरी से पूरी तरह उतर गर्ई है, उनकी जगह पर जिन्हें लगाया गया है कि उन्हें पूरे क्षेत्र की जानकारी न होने से दिक्कतें आ रही हैं। नगर निगम जोन-5 के अधिकारियों की माने तो निजी कम्पनियों के कर्मचारियों की हड़ताल तो खत्म हो गई मगर एक सप्ताह से सफाई व्यवस्था राम भरोसे है। यहां कम्पनी ने जोनल कोआर्डिनेटर राहुल मौर्या को हटाकर दूसरे किसी को लगाया है, जिसे पूरे क्षेत्र की जानकारी नहीं है।
फिर लगेगा पांच लाख का जुर्माना
कार्यदायी संस्था सीएंडडीएस की ओर से प्लांट और ट्रांसफर स्टेशनों का काम पूरा कर निजी कम्पनी को २१ मई तक का काम पूरा कर प्लांट को चलाना था। ऐसा न होने पर २१ मई के बाद प्रति सप्ताह पांच लाख रुपये का जुर्माना लगाने की चेतावनी दी गई थी, जिसके तहत कंपनी पर जुर्माना लगाने की रिपोर्ट निदेशक को भेज दी गई है।

Pin It